Computer Memory क्या है




Hello Friends Tutorialsroot मे आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post में Computer Memory के बारे में बताने जा रहे है जिसमे आपको Computer Memory के बारे में सीखने को मिलेगा हमे आशा है की पिछली बार की तरह इस बार भी आप हमारी Post को पसंद करेंगे. बहुत कम लोग ही जानते होंगे की Computer Memory क्या है और इसका उपयोग कैसे और क्यों किया जा रहा है अगर आप इसके बारे में नही जानते तो कोई बात नहीं हम आपको इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी देंगे इसके लिए हमारी Post को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े.

Computer Memory क्या है - What is Computer Memory in Hindi

एक Memory एक मानव के मस्तिष्क की तरह होती है. इसका उपयोग Data और Instructions को Store करने के लिए किया जाता है. Computer Memory Computer में Storage Space होती है जहां Data Processed किया जाता है और फिर Processing के लिए आवश्यक Instructions Stored किए जाते हैं. Memory को Cells नामक छोटे भागों में विभाजित किया जाता है. प्रत्येक स्थान या कक्ष का एक अनूठा Address होता है जो शून्य से Memory Size शून्य से भिन्न होता है.

CPU एक Computer का मुख्य Component होता है जो Computer के अंदर Processing का कार्य करता है. अगर सरल भाषा में बात करे तो CPU Computer का Brain होता है. CPU Instructions जारी करता है और Computer Programs को पूरा करता है और सभी Basic Arithmetic और Logical का संचालन करता है.

CPU मदरबोर्ड के विशिष्ट क्षेत्र मे Installed होता है जिसको CPU Socket कहते है. CPU केवल Arithmetic Calculation और Logical Calculation कर Input Data को Process करता है Process Data को सुरक्षित नहीं रख सकता है अब उस Process Data को कहीं सुरि‍क्षित भी रखना होता है तो इस कार्य को Computer Memory के Pass होता है. Computer Memory को बहुत सारे छोटे भागों में बाँटा गया है जिन्हें हम Cell कहते हैं. प्रत्येक Cell का Unique Address या Path होता है. आप जब भी कोई File Computer में Secure या Save करते हैं तो वह एक Cell में Save होती है-

CPU पहली बार 1960 के दशक मे Computer उद्योग में उपयोग किया गया था. Starting मे CPU का उपयोग Software को Execution करने के लिए और एक उपकरण को Define करने के लिए किया गया था और यह Stored Program Computer के आगमन के साथ आया था.

कंप्यूटर मेमोरी की इकाइयां - Computer Memory Units In Hindi

  • 8 Bits = 1 Bytes

  • 1 KB = 1024 Bytes

  • 1 MB = 1024 KB

  • 1 GB = 1024 MB

  • 1 TB = 1024 GB

  • 1 PB = 1024 TB

कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार - Types of Computer Memory In Hindi

Computer में एक साथ कई अलग-अलग तरह की Memory का उपयोग किया जा सकता है. Computer में मुख्य तीन तरह की Memory होती है जैसे कि -

  • Cache Memory

  • Primary Memory/Main Memory

  • Secondary Memory

Cache Memory

Cache Memory एक बहुत ही तेज गति की Semiconductor Memory है जो CPU को तेज कर सकती है. यह CPU और Main Memory के बीच एक Buffer के रूप में कार्य करती है. इसका उपयोग Data और Program के उन हिस्सों को पकड़ने के लिए किया जाता है जिन्हें अक्सर CPU द्वारा उपयोग किया जाता है. Data और Programs के हिस्सों को Operating System द्वारा Cache Memory में Disk से Transferred किया जाता है जहां से CPU उन्हें Access कर सकता है.

Advantages of Cache Memory

Cache Memory के बहुत से Advantages होते है जैसे कि -

  • Main Memory की तुलना में Cache Memory बहुत Fast होती है.

  • Cache Memory Main Memory की तुलना में बहुत कम Time Consumes करती है.

  • Cache Memory उस Program को Stores करती है जिसे कम समय के भीतर Execute किया जा सकता है.

  • Cache Memory Temporary उपयोग के लिए Data Store करती है.

Primary Memory - Main Memory

Primary Memory Computer में Speed देने का काम करती हैं यानि Computer को काम करने में Speed देने के लिए Primary Memory का उपयोग होता है. इस Memory में आप Data को लम्बे समय तक Save करके नहीं रख सकते हैं. इस Memory में Data थोड़े समय तक के लिए ही Save रहता है जब तक आप किसी File में काम कर रहें होते है तब तक वह File Primary Memory में अपने आप Save रहता है और जब आप उस File को Save कर देते हैं तब वह Secondary Memory में चला जाता है और अगर File Save होने से पहले ही Computer अपने आप किसी कारण बंद हो जाएँ तो आपका Data यानि वह File Primary Memory से अपने आप Delete हो जाता है. Primary Memory के अंदर RAM और ROM दोनों Memory आती है

RAM Memory

RAM की फुल फॉर्म Random Access Memory होती है. RAM को Random-Access-Memory कहते है ये किसी भी कंप्यूटर या Device का सबसे जरूरी हिस्‍सा होती है. आपको मालूम होगा है कि RAM रफ्तार बढ़ाने के काम आती है. RAM मे Data सिर्फ तब तक Save रहता है जब तक इसमे Power Supply रहती है जैसे ही Power Suppy बंद हुई आपका Data Delete हो जायेगा.

RAM एक Temporary Memory है जो हमारे Computer या मोबाइल Apps और Software को चलाने के काम आती है. जब आप कोई सॉफ्टवेर या Apps Start करते है तो वो आपकी RAM पर काम करता है लेकिन जब तक आप वो Start नहीं करते तब तक वो ROM मे Save रहता है.

Software जब Start होते है और काम करते है तब तक RAM की जरूरत होती है. क्योंकि Computer Software से Fastley काम करवाना चाहता है. और ROM की Speed बहुत कम होती है और RAM की Speed बहुत ज्यादा इसलिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर या Apps को RAM पर Start करता है ताकि वो Software जल्दी काम करे. और जब तक Software काम करता है तब तक ही RAM का इस्तेमाल होता है जैसे ही आपने Program बंद किया आपकी RAM से वो Delete हो जायेगा लेकिन ROM मे Save रहेगा.

ROM Memory

ROM की फुल फॉर्म Read Only Memory होती है. ROM को हिंदी मे केवल पठनीय स्मृति कहते है. ROM कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणो मे उपयोग की जाने वाली Non- Volatile, Permanent Memory का प्रकार है. ROM मे Stored Data को केवल धीरे धीरे संशोधित किया जा सकता है कठिनाई के साथ या बिल्कुल नही इसलिए यह फर्मवेयर को इकट्ठा करने के लिए मुख्य रूप से उपयोग किया जाता है.

ROM Persoanl कंप्यूटर के अलावा कई Device में मदर बोर्ड यासर्किट बोर्ड के साथ स्थायी रूप से जुड़ा रहता है. इसे एक अंदर किसी Deivce को प्रारंभ और नियंत्रण आदि करने के प्रोग्रामिंग स्टोर रहती है. ROM के अंदर मौजूद Data को केवल Read किया जा सकता है हम उसमे किसी भी Type का कोई भी परिवर्तन नही कर सकते है. मुख्य रूप से इसका उपयोग फर्मवेयर या आवेदन Programme को इकट्ठा करने के लिए किया जाता है.

Secondary Memory

Secondary Memory को Programs, Data एवं अन्य Information के Bulk Storage या Mass Storage के लिए उपयोग किया जाता है. Main Memory की अपेक्षा इसमें अधिक क्षमता होती है. इसमें System Software, Asymblers, Compilers उपयोगी Packages बड़ी Data Files आदि Store की जाती है. Secondary Memory Non Volatile Type की होती है. Hard Disk और Floppy Disk जैसी Magnetic Memory Computer में प्रयोग की जाने वाली सबसे का Main Secondary Memory है.

Characteristics of Secondary Memory

  • ये Magnetic और Optical Memories हैं.

  • इसे Backup Memory के रूप में जाना जाता है.

  • यह एक Non-volatile Memory है.

  • यह बिजली बंद होने पर भी Data स्थायी रूप से Stored रखती है.

  • यह Computer में Data के storage के लिए प्रयोग की जाती है.