DDoS Attack क्या है DDoS Attack कैसे किया जाता है




दोस्तो आज मै आपको अपनी इस Post मे Hacking से संबंधित जानकारी दूंगा की DDoS Attack क्या होता है DDoS Attack कैसे और क्यों किया जाता है. अगर आप कंप्यूटर और नेटवर्किंग के क्षेत्र में काम कर रहे है तो आपने जरूर DDoS Attack के बारे में सुना ही होगा. आज यह Attack Internet पर किये जाने वाले साधारण हमलो में से एक है. यह Attack खासकर बड़ी वेबसाइट पर ज्यादा होता है. DDoS Attack क्या है कैसे और क्यों किया जाता है. इस बारे में आज हम आपको पूरी Information देने वाले है. अगर आप DDoS Attack के बारे में जानना चाहते है तो इस Post को पूरा पढ़ें.

DDoS Attack क्या है

DDoS Attack को Distributed Denial of Service के नाम से जाना जाता है. जब यह Attack किसी वेबसाइट पर किया जाता है तो वह वेबसाइट Down हो जाती है जिस के कारण आप उस वेबसाइट की Service का उपयोग नही कर सकते है. सभी वेबसाइट पर Visitors की एक सीमा होती है जिसे Bandwidth के नाम से जाना जाता है. Bandwidth किसी वेबसाइट मे कम होती है और किसी में ज्यादा होती है. जैसे कि एक वेबसाइट की Limit है कि उस पर 1 सेकंड में 100 Visitors आ सकते है परंतु Hackers मिलकर 100 से ज्यादा Fake Requests Server को Send कर देते है जिस कारण Website Down हो जाती है.

ऐसा करने के लिए Hackers की टीम मिलकर एक Fake IP Address की टीम तैयार करते है जिसे Botnet के नाम से जाना जाता है. Botnet में वे Smart Device शामिल होते है जिसे Hackers द्वारा बनाया जाता है. आपका Device भी Botnet से जुड़ा हो सकता है. फिर Hackers इन Botnets की मदद से एक समय में बहुत सारे Fake IP Addresses से Server को Request Send कर देते है जिस के चलते Website Down हो जाती है.

Botnet क्या होता है

Botnet एक तरह का Digital Robot होता है जो अपने Owner के दिए हुए Instructions पर ही Work करता है और इसी तरह हैकर भी अपनी किसी Website पर या किसी Social Site पर अपनी किसी File के साथ एक Bot Attache कर देते है. अगर कोई भी User उस फ़ाइल को Downlaod करेगा तो उस फ़ाइल के साथ वह Bot भी Download हो जायेगा और इसी तरह जीतने भी User उस फाइल को डाउनलोड करेंगे उनके Computer मे वह Bot चला जायेगा. फिर जैसे उसका Administrator उस Bot को Command देगा वाह वैसा ही काम करेगा जैसे हैकर उस Website को Target बनाना चाहते हैं तो जितने भी Computer मे उनका Bot है वह सबको Command दे देंगे और घर बैठे दुनिया भर के अलग अलग Computer से उस Website पर Traffic भेज देंगे जिनका कोई मतलब ही नहीं और ऐसे में वह Site इतने सरे User को Handle नहीं कर पायेगी और आखिरकार वह Website Down हो जाएगी.

DDoS Attacks का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

  • Server की Bandwidth, Disk Space और Processor Time खत्म करने के लिए.

  • Confirguration Information को खराब करने के लिए

  • Users को Site से दूर रखने के लिए

DDoS Attack Types

आइए देखते हैं कि DDoS Attack कैसे किए जाते हैं और तकनीक का इस्तेमाल किए जाते है. यहाँ हम चार आम प्रकार के Attacks को देखेंगे.

  • Ping of Death - Ping of Death में Server को अवैध Ping of Packet भेजे जाते है इसकी वजह से System Crash हो जाता है.

  • SYM Flood - SYM Flood में Server को बहुत ज़्यादा मात्रा में गलत Sender Address के साथ TCP/IP Packets भेजे जाते है.

  • Teardrop Attacks - Teardro Attack मे Operating System के Bugs को Exploit किया जाता है.

  • Peer-to-Peer - Peer-to-Peer Attack में सीधे हमलावर शामिल नहीं होता है बल्कि वह एक मास्टर के रूप में कार्य करता है और Client को Victim's Website से जुड़ने के लिए Instructions देता है.

Internet Article in Hindi