Floppy Disk क्या है




Hello Friends Tutorialsroot मे आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post में Floppy Disk के बारे में बताने जा रहे है जिसमे आपको Floppy Disk के बारे में सीखने को मिलेगा हमे आशा है की पिछली बार की तरह इस बार भी आप हमारी Post को पसंद करेंगे. बहुत कम लोग ही जानते होंगे की Floppy Disk क्या है और इसका उपयोग कैसे और क्यों किया जा रहा है अगर आप इसके बारे में नही जानते तो कोई बात नहीं हम आपको इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी देंगे इसके लिए हमारी Post को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े.

Floppy Disk क्या है - What is Floppy Disk in Hindi

Floppy Disk

Floppy Disk Computer में Data को Insert करने और उसे Secure रखने का काम करती है लेकिन यह बहुत ही कम मात्रा में Data को Store कर सकती थी. Floppy Disk में सारा Data एक Spherical Magnetic Plate में Store होता है वहीं से यह सभी Data को Read और Show करती है. यह देखने में एक Plastic की छोटी सी Audio Cassette Tape की तरह होती है जिस पर थोड़ी-थोड़ी धातु की एक परत होती है इसे Diskette कहा जाता है और इसमें Store किये गये Data को केवल Floppy Disk Drive ही Read कर सकता है.

एक Floppy Disk Drive Computer Hardware का वह हिस्सा है जो Floppy Disk से Data को पढता है और फिर उसे Computer Desktop पर Project करता है अगर Floppy Disk के हिस्सों की बात करें तो Floppy Disk Drive के काम करने के कुछ हिस्से होते हैं जिनकी सहायता से Floppy Disk के Data को Read करके Output देता है. Writing Hard Disk के दोनों Side पर पाए जाते हैं यह एक दूसरे के काम में दखल न देने के लिए एक दूसरे से अलग रहने की कोशिश नहीं करते बल्कि साथ में काम करते हुए Data को Read करते हैं और Right करते हैं इनका दूसरा हिस्सा थोड़ा चौड़ा होता है जो Data को Remove करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है. Drive Motor एक छोटी सी Motor है जो Floppy Disk के जुड़े धातु के साथ केंद्र से जुडी होती है और यह Motor 1 मिनट में लगभग 300 से 307 चक्कर लगाती है.

Stepper Motor घूमते हुए Data को Read करती हैं और लिखती है यह साथ ही साथ Read Right Head को उसकी उचित जगह भी प्रदान करती है. यह Read और Right Head इस Motor के घूमने की गति को भी बढ़ाते हैं Mechanical Résumé Floppy Disk Protective window को Call करती है ताकि Floppy के Frame को एक Button को दबाने पर बाहर निकाला जा सके.

इसके लिए इसमें एक Spring का इस्तेमाल होता है जो Floppy रखने वाले Frame को Floppy Drive से बाहर निकालता है. Floppy Disk Drive के Circuit Board Electrical से जुड़े Device को अपने से जुड़े रखते हैं और एक Circuit को पूरा करते हैं जिससे यह Floppy से Data को Read कर सके और Write कर सके साथ ही साथ यह Stepper Motor को भी संभालता है ताकि Read और Right Hand Truck तक पहुंच सके. Floppy के इन हिस्सों की मदद से Floppy Disk बनती है और इन हिस्सों के साथ साथ काम करते हुए Store Data Computer Screen तक पहुंचता है

फ्लॉपी डिस्क का इतिहास - Floppy Disk History In Hindi

Allan Sugart ने Floppy Disk Drive का आविष्कार 1967 में IBM में किया गया था. पहली Floppy Drive ने 8 Inch की Disk का उपयोग किया जिसे बाद में Diskette कहा जाता था क्योंकि यह छोटा हो गया था जो 5.25 Inch की Disk में Developed हुआ था जिसे August 1981 में पहले IBM के Personal Computer पर उपयोग किया गया. 5.25 Inch की Disk में आज के 3.5-Inch Diskette की 1.44 MB क्षमता की तुलना में 360 KB थे. 5.25 Inch Disk को Floppy कहा जाता था क्योंकि Disk Packaging एक बहुत Flexible Plastic Material था.

Magnetic Recording Media में सन 1980 तक सुधार के साथ-साथ Read, Write, Head के बेहतर Designs ने बहुत कम Flexible 3.5-Inch, 1.44-Megabytes (MB) की क्षमता Floppy Disk Drive का उपयोग किया. कुछ सालों तक Computers में Floppy Disk Drive का Size 3.5 Inch और 5.25 Inch दोनों थे. लेकिन 1990 तक 5.25 Inch का Version Popular हो गया था.

फ्लॉपी डिस्क के प्रकार - Floppy Disk Types In Hindi

Floppy Disk के कई प्रकार Develop किए गए हैं. लेकिन आज के समय में Floppy का Size छोटा हो गया और Storage Capacity में वृद्धि हुई. सन 1990 के समय में Hard Disk Drive, Zip Drive, Optical Drive और USB Flash Drive समेत अन्य Media, Floppy Disk को Primary Storage माध्यम के रूप में Replace करने लगे है.

सबसे पहले बाजार में आने वाली Floppy Disk 8 Inch 200 मिमी थीं. इस Disk को एक Flexible Plastic Jacket द्वारा Secure किया गया था. सन 1970 के अंत में 8 Inch की Disk 1MB Data Store कर सकती थी. लेकिन इसके बाद उसी Design के एक Small Version 5.25-Inch (133 मिमी) Floppy के बाद जो High Density Media और Recording Techniques का उपयोग करके समान मात्रा में Information Store कर सकता था. Floppy Disk कई अलग-अलग प्रकार की होती है जैसे कि -

  • 5 ¼ -Inch Drive

  • 3 ½ -Inch Drive

  • Zip Drive

  • Formatting

  • Legacy

5 ¼ -Inch Drive

सन 1980 के दशक के दौरान बनाए गए Personal Computers पर 5 ¼-Inch Floppy Disk Drive आम थी और 1990 के दशक के शुरू में Computer पर अभी भी शामिल थी. एक 5 ¼-Inch Floppy Disk 360 Kilobytes और 1.2 Megabyte Data के बीच Store कर सकती है. कुछ 5 ½-Floppy Disk को Modified किया जा सकता है और Disk के दोनों किनारों पर Data लिखने के लिए उपयोग किया जा सकता है. इससे निर्माताओं ने Double-sided Drive तैयार किए जो Disk के दोनों किनारों को पढ़ सकते थे.

3 ½ -Inch Drive

एक 3½ इंच Floppy Drive को Floppy Drive माना जाता है क्योंकि Diskette Plastic में लगाए गए Magnetic Floppy Disk का उपयोग करता है. एक 3 ½-Inch Floppy Disk एक Double Density Disk पर 730 Kilobytes और High Density Disk पर 1.44 Megabyte Store करने में सक्षम है. पुराने Computer पर Windows 3.0 जैसे Program Load करने का एकमात्र तरीका Program स्थापित करने के लिए एकाधिक Disk का उपयोग करना था.

Zip Drive

1990 के मध्य में Iomega निगम द्वारा Zip Drive पेश किए गए थे. एक Zip Disk एक Disk पर 100 Megabyte, 250 Megabyte और यहां तक कि 750 Megabyte Store करने में सक्षम थी. Zip Drive मुख्य रूप से Peripheral के रूप में उपलब्ध थे जिन्हें मौजूदा System में जोड़ा जा सकता था. एक Zip Drive ने एक High Value Tag किया जो इसके उपयोग को सीमित करता है और अंतत एक Popular Storage माध्यम के रूप में इसकी गिरावट का कारण बनता है.

Formatting

Disk पर Data Store करने के लिए प्रत्येक प्रकार की Floppy Disk को Formatted करने की आवश्यकता होती है. Disket को Formatted करने से Low-level Format नामक प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है. यह Disk को उन Disk पर लिख देगा जो एक Specific Byte Size हैं जो आम तौर पर प्रति क्षेत्र 512 Bytes होते हैं. Floppy Disk Drive में मौजूद Hardware द्वारा की गई यह प्रक्रिया जो Operating System को Formatted Disk को पढ़ने और लिखने की अनुमति देती है.

Legacy

5 ¼-Inch और 3½-Inch Floppy Disk Drive Storage माध्यम के रूप में लगभग अप्रचलित हैं. एक System समस्या की स्थिति में Command Prompt पर Boot करने के लिए अभी भी एक Floppy Disk Drive का उपयोग किया जा सकता है. कभी-कभी Computer BIOS Upgrade के लिए Floppy Disk का उपयोग किया जाता है लेकिन यहां तक कि उस उपयोग को Phased किया जा रहा है. Computer के निर्माता आज नई Machines में Floppy Drive स्थापित नहीं कर रहे हैं.