BARC Full Form in Hindi




BARC Full Form in Hindi, BARC का Full Form क्या है, BARC क्या होता है, बीएआरसी क्या है, BARC का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालो के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

BARC Full Form in Hindi - बीएआरसी क्या होता है

BARC की फुल फॉर्म Bhaba Atomic Research Center होती है. इसको हिंदी मे भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र कहते है. बीएआरसी भारत मे एक प्रमुख परमाणु अनुसंधान केंद्र है. बीएआरसी Trombay Mumbai मे स्थित है. बीएआरसी का मुख्य काम विशेष रूप से बिजली उत्पादन और उपयोग के क्षेत्र मे परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण अनुप्रयोगो को ढूंढना है. श्री के एन व्यास 2016 तक बीएआरसी के निदेशक है.

BARC व्यय ईंधन प्रसंस्करण परमाणु ईंधन प्रसंस्करण और परमाणु अपशिष्ट, कृषि, और दवा आदि का निपटान पर अनुसंधान आयोजित करता है. BARC देश मे विभिन्न परमाणु रिएक्टरो के सुचारू कामकाज के लिए भी जिम्मेदार होता है.

बीएआरसी का इतिहास

Dr. Homi Jahangir Bhaba Dreamer एक थे जिन्होंने भारत के नाभिकीय ऊर्जा कार्यक्रम की कल्पना की थी. उन्होंने मुटठीभर वैज्ञानिको की सहायता से मार्च 1944 मे भारत मे नाभिकीय विज्ञान मे अनुसंधान का कार्यक्रम प्रारंभ किया. उन्होंने नाभिकीय ऊर्जा की असीम क्षमता एवं उसकी विद्युत उत्पादन एवं सहायक क्षेत्रों मे सफल प्रयोग की संभावना को पहचाना.

Dr. Bhaba ने नाभिकीय विज्ञान एवं इंजीनियरी के क्षेत्र मे स्वावलंबन प्राप्त करने के लक्ष्य से यह कार्य प्रारंभ किया और आज का परमाणु ऊर्जा विभाग जो विविध विज्ञान एवं इंजीनियरी के क्षेत्रों का समूह है वो Dr. Bhaba की दूरदृष्टि का परिणाम है. उन्ही के शब्दों मे कुछ ही दशको मे जब परमाणु ऊर्जा का विद्युत उत्पादन के लिए सफलतापूर्वक अनुप्रयोग किया जाएगा तब भारत को विशेषज्ञो के लिए विदेशों की ओर नहीं देखना पडे़गा बल्कि वे यही मिलेंगे

Dr. Homi Jahangir Bhaba ने परमाणु ऊर्जार् विद्युत उत्पादन के लिए एक व्यवहार्य वैकल्पिक स्रोत मे उच्च क्षमता को पहचानते हुए मार्च 1944 मे भारतीय नाभिकीय कार्यक्रम प्रारंभ किया.

यह Dr. Bhaba की दूरदृष्टि ही थी जिसके कारण भारत में नाभिकीय अनुसंधान को उस समय प्रारंभ किया जब ओटो हान एवं फ्रिट्ज स्ट्रॅसमैन द्वारा नाभिकीय विखंड़न के चमत्कार की खोज की जा रही थी एवं तत्पश्चात एन्रिको फर्मि व साथियों द्वारा अविच्छिन्न नाभिकीय श्रृंखला अभिक्रियाओं की व्यवहार्यता के बारे में रिपोर्ट किया गया. उस समय बाहरी विश्व को नाभिकीय विखंडन एवं अविच्छिन्न श्रृंखला अभिक्रिया की सूचना न के बराबर थी. परमाणु ऊर्जार् पर आधारित विद्युत उत्पादन की कल्पना को कोई मान्यता देने के लिए तैयार नहीं था.


Related Full Form in Hindi