BIOS Full Form in Hindi




BIOS Full Form in Hindi, BIOS का Full Form क्या है, BIOS क्या होता है, बायोस क्या है, BIOS का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालो के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

BIOS Full Form in Hindi - बायोस क्या होता है

BIOS की फुल फॉर्म Basic Input Output System होती है. BIOS एक सॉफ्टवेयर या फर्मवेयर होता है जो आपको कंप्यूटर सिस्टम शुरू करने मे सक्षम बनाता है. System शुरू होने पर BIOS Power On Self Test चलाता है यह सुनिश्चित करने के लिए कि System से जुड़े सभी Hardware ठीक से काम कर रहे है.

यह System से जुड़ा सभी Hardware की जाँच करके System के बुनियादी रखरखाव को पूरा करता है और Operating System को Load करता है जो आप कंप्यूटर सिस्टम के Performance को सुधारने के लिए BIOS Settings को बदल कर Modified कर सकते है या System की Problem का निवारण कर सकते है. Memory मे चल रहे BIOS मे सभी विभिन्न Driver शामिल होते है जो Operating System पर Hardware के लिए एक Interface प्रदान करते है. BIOS Rom Chip मे Preloaded होता है.

BIOS कहा स्थित होता है

BIOS मदरबोर्ड पर लगी EEPROM Chip मे Store होता है. यह एक Non-Volatile ROM Chips है मतलब आप BIOS को Update या Rewrite कर सकते है.

BIOS के मुख्य कार्य

BIOS आपके कंप्यूटर के डिज़ाइन के आधार पर एक या अधिक Chips मे Embed किए गए Programs का एक Collection होता है. ऑपरेटिंग सिस्टम Load होने से पहले इन Chips मे Embed किये गये Programs के Collection पहले Load होते है. ज्यादातर कंप्यूटरो मे BIOS के चार मुख्य कार्य होते है.

  • POST - POST के द्वारा कंप्यूटर के प्रोसेसर, मेमोरी, चिपसेट, वीडियो, एडाप्टर, डिस्क नियंत्रक, डिस्क ड्राइव, कीबोर्ड और अन्य घटको कि जाँच होती है कि वह ठीक से काम कर रहे है या नही.

  • SETUP - सेटअप आपको मदरबोर्ड और चिपसेट सेटिंग को कॉन्फ़िगर करने मे सक्षम बनाता है सिस्टम कॉन्फ़िगरेशन और सेटअप प्रोग्राम आमतौर पर एक मेनू आधारित प्रोग्राम होते है जो POST के दौरान एक स्पेशल कुंजी दबाकर सक्रिय किये जाते है.

  • BIOS - BIOS ड्राइवर्स का Collection होता है जो सिस्टम और बूट होने पर ऑपरेटिंग सिस्टम और आपके हार्डवेयर के बीच एक बुनियादी इंटरफ़ेस के रूप मे कार्य करता है.

  • BOOTSTRAP LOADER - ऑपरेटिंग सिस्टम Load करने के लिए हार्ड डिस्क ड्राइव्स बूट सेक्टर को Read करता है यह एक प्रोग्राम होता है जो की कंप्यूटर के ROM या EPROM मे स्‍टोर होता है जो कि कंप्यूटर चालू होने पर प्रोसेसर द्वारा स्वचालित रूप से निष्पादित होता है. कंप्यूटर के मुख्य मेमोरी RAM मे फ्लॉपी डिस्क या हार्ड डिस्क से ऑपरेटिंग सिस्टम Load करना इस प्रोग्राम का काम होता है की जब तक कि बूट प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूर्ण न हो जाये तो ऑपरेटिंग सिस्टम को मुख्य मेमोरी RAM मे कॉपी किया जाता है तब तक उपयोगकर्ता कंप्यूटर का उपयोग नही कर सकता.

BIOS को कैसे एक्‍सेस करे

Key Combinations का उपयोग करके BIOS को Access किया जाता है जैसे Del, F2, F10, और Ctrl + Alt + Esc यह BIOS निर्माता पर निर्भर करता है.

BIOS को कैसे अपडेट करे

यदि आपका Computer नए Software या Hardware की सभी विशेषताओं का उपयोग करने मे सक्षम नही है तो BIOS Upgrade की आवश्यकता होती है. BIOS को Update करने से उसमे अतिरिक्त फंक्शन जुड़ता है और सभी Errors और Bugs को ठीक करता है. आप Motherboard निर्माताओ की Website से BIOS Update डाउनलोड कर सकते है.


Related Full Form in Hindi