HR Full Form in Hindi




HR Full Form in Hindi, HR Ka Full Form Kya Hai, HR का Full Form क्या है, HR Ka Poora Naam Kya Hai, एच.आर क्या है, HR का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

HR Full Form in Hindi एच.आर क्या होता है

HR की फुल फॉर्म Human Resources होती है. Human Resources शब्द 1960 के दशक में पहली बार Use में लाया गया था. HR किसी Organization या Institute में मानव संसाधन से सम्भन्धित व्यक्ति का मुख्य कार्य संस्था के लिए आवश्यक कर्मचारी, श्रमिक की व्यवस्था करना होता है. HR का काम Institute या Organization में कार्य करने वाले प्रत्येक कर्मचारी के हित और उनके हक का भी ध्यान रखना होता है. एक Company के सफल होने की अधिक संभावना तभी होती है जब वह अपने सभी Employees को अच्छी तरह से Manage करती है. इस तरह से किसी Institute या Organization के लिए HR की भूमिका बहुत आवश्यक होती है.

किसी कंपनी की जनशक्ति के रूप में जाना जाने वाला HR अपने विशिष्ट कौशल और रचनात्मकता के साथ किसी भी संगठन के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. HR प्रबंधकों के रूप में जानी जाने वाली कंपनी के पेशेवरों की बेहतरी के लिए इस जनशक्ति को प्रभावी तरीके से प्रबंधित करने के लिए अर्थव्यवस्था के वैश्वीकरण और विशेष रूप से भारत जैसे देशों में बहुत सारे संगठन खोलने की आवश्यकता है जहां बहुत अधिक मात्रा में कच्चे हैं सस्ती कीमत पर उपलब्ध प्रतिभा है.

HRM को पहले Personnel Management के रूप में जाना जाता है. आज के समय में यह क्षेत्र एक अत्यधिक प्रतिस्पर्धी और मांग वाला पेशा है.

आज के समय एक संगठन या कंपनी के विकास के लिए अच्छी तरह से प्रशिक्षित, कुशल और उच्च प्रेरित कर्मचारियों की आवश्यकता होती है. इनमे HRM को दोनों विज्ञापनों के साथ-साथ गैर-लाभकारी बनाने वाले प्रतिष्ठानों में एक महत्वपूर्ण प्रशासनिक कार्य किया है. कंपनी की उत्पादकता में सुधार के लिए कुशल कर्मचारियों की भर्ती करना एचआर या पर्सनल मैनेजर का कर्तव्य होता है.

HR के कार्य

HR के बहुत से महत्वपूर्ण कार्य होते है जैसे कि -

  • Job Ads को नियुक्ति करना

  • इंटरव्यू के समय को मैनेज करना

  • जमा किये गये रिज्यूम को व्यवस्थित करना

  • कर्मचारियों को कार्य करने के लिए प्रेरित करना

  • कर्मचारी के लाभ और मुआवजे का प्रबंधन करना

  • कर्मचारियों के लिए समान अवसर सुनिश्चित करना

  • सभी कर्मचारियों के लिए बिना किसी भेदभाव के साथ व्यवहार करना

HR के लिए योग्यता

HR बनने के लिए उम्मीदवार के पास Human Resource Management में मास्टर्स डिग्री होनी चाहिए. HR के लिए विशेष रूप से पाठ्यक्रम निम्नलिखित हैं -

  • Master of Human Resource Management (MHRM)

  • Post Graduate Diploma in Human Resource Management (PGDHRM)

  • Post Graduate Diploma in Human Resource Development (PGDHRD)

  • Master of Human Resource and Organizational Development (MHROD)

उम्मीदवार के पास इन पाठ्यक्रमों में आवेदन करने के लिए पात्रता मानदंड किसी भी विषय में स्नातक होना चाहिए. मास्टर्स डिग्री 2 वर्ष की होगी और पीजी डिप्लोमा डिग्री 1 वर्ष की अवधि का होगा.

मूल रूप से, इन कार्यक्रमों में प्रवेश योग्यता परीक्षा Group Discussion और Interview पर आधारित होगा.

संस्थानों के आधार पर चयन प्रक्रिया भिन्न हो सकती है. अधिकांश संस्थान कैट में IIM द्वारा परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्रों को स्वीकार करते हैं, MAT द्वारा All India Management Association, XAT द्वारा Xavier Institute आदि.

कुछ संस्थान इन पाठ्यक्रमों के लिए अपनी परीक्षा आयोजित करते हैं.

HR के लिए आवश्यक Skills

  • HR के लिए उम्मीदवार को संगठन के भीतर और बाहर दोनों तरह के लोगों के साथ अच्छी तरह से काम करने की क्षमता की तरह सहयोगी होना चाहिए.

  • HR के लिए उम्मीदवार को निर्णायक विचारक होना चाहिए जैसे कि सूचना का शीघ्र विश्लेषण करना और मजबूत निर्णय लेने के लिए इसका उपयोग करना.

  • HR के लिएउम्मीदवार के पास व्यक्तिगत रूप से विश्वसनीय होना चाहिए जैसे मानव संसाधन और वाणिज्यिक दोनों मुद्दों में एक विशेषज्ञ और एक पेशेवर दृष्टिकोण लेता है

  • HR के लिए उम्मीदवार के पास साहस और प्रकृति का सामना करने की चुनौती होनी चाहिए जैसे कि बोलना और प्रतिरोध या अपरिचित परिस्थितियों से मिलने पर भी दूसरों को चुनौती देना.

HR की सैलरी

HR का वेतन संगठन, आर्थिक गतिविधि, भौगोलिक स्थिति और लाभप्रदता के प्रकार के आधार पर भिन्न होता है. विशेष रूप से निजी संगठनों में अनुभवी HR को 20,000 से 30,000 प्रति माह दिए जाते हैं.

इसमें हालांकि आईआईएम जैसे शीर्ष बिजनेस स्कूलों के उम्मीदवार को एक्सएलआरआई इत्यादि प्रतिवर्ष लगभग 3,00,000 से 5,00,000 तक कमा सकते हैं. इसमें उम्मीदवार को अपने प्रबंधकीय कौशल, योग्यता और अनुभव आदि के आधार पर तैयार किया जाएगा. एक वरिष्ठ स्तर के पद के लिए, एमबीए ग्रेजुएट को 50,000 से 60,000 सैलरी प्रति माह और इससे भी अधिक योग्य उम्मीदवारों को ज्यादा दिये जाते है.


Related Full Form in Hindi