ICU Full Form in Hindi




ICU Full Form in Hindi, ICU Ka Full Form Kya Hai, ICU का Full Form क्या है, ICU Ka Poora Naam Kya Hai, आईसीयू की फुल फॉर्म क्या है, ICU का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

ICU Full Form in Hindi - आईसीयू की फुल फॉर्म क्या है

ICU की फुल फॉर्म Intensive Care Unit होती है. इसको Hindi में गहन चिकित्सा केन्द्र कहते है. ICU मेडिकल का वह Department होता है जहां गंभीर मरीजों का इलाज किया जाता है. आपने अक्सर सुना होगा कि व्यक्ति ICU में भर्ती है या डॉक्टर ने व्यक्ति को ICU मे Refer कर दिया है. जब भी ICU की बात आती है तो लोग थोड़े Serious हो जाते हैं चूंकि ICU में भर्ती होना सामान्य बात नही होती है.

ICU मे किसी भी व्यक्ति को तब ही भर्ती किया जाता है जब उसकी हालत बहुत नाजुक हो या उसके बचने की संभावना बहुत कम हो. ICU Hospital का वह Department होता है जहाँ अत्याधुनिक Machine और उपकरण मौजूद होते है जिनकी मदद से व्यक्ति को बचाने की पूरी कोशिश की जाती है. ICU मे बहुत संवेदनशील और अच्छी तरह विकसित मशीनें होती हैं जो बीमार व्यक्ति के इलाज के लिए प्रयोग की जाती है.

ICU मे विभिन्न चिकित्सा उपकरण होते है जिनके नाम आप नीचे देख सकते है.

  • Mechanical Ventilators

  • Dialysis Machine

  • Syringe Pump

  • Infusion Pump

  • Defibrillator

  • Blood Warmer

  • Patient Monitor

  • External Pacemakers

  • Anesthesia Machine

  • ECG (Electrocardiogram)

  • Feeding Tubes, Suction Tubes etc

Ventilator

इस मशीन का उपयोग तब किया जाता है जब मरीज को सांस लेने में परेशानी होती है.

Feeding Tube

इस मशीन का उपयोग मरीज के शरीर में खाना पहुँचाने के लिए किया जाता है.

EEG Box

इस मशीन का उपयोग मरीज के रोग के बारे में एक से ज्यादा जानकारी लेने के लिए किया जाता है.

Pulse Oximeter

इस मशीन का उपयोग रोगी के खून में Oxigin Level को मापने के लिए किया जाता है.

Dialysis

इस मशीन का उपयोग मरीज की Body से Blood निकलकर उसे साफ करके पुन: उसके शरीर में डालने के लिए किया जाता है.

ICU मे रोगी को कब भर्ती करते है

ऐसी कई परिस्थिति होती है जिसमे रोगी को ICU में भर्ती किया जाता है जैसे कि -

  • अगर किसी व्यक्ति को बड़ा हार्ट अटैक आया हो तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति को ICU में भर्ती किया जाता है.

  • अगर कोई रोगी कोमा में पहुंच गया हो तो ऐसी स्थिति में रोगी को ICU में भर्ती किया जाता है.

  • अगर किसी रोगी की किडनी फेल हो जाये तो ऐसी स्थिति में रोगी को ICU में भर्ती किया जाता है.

  • अगर किसी रोगी का लिवर काम करना बंद कर दे तो ऐसी स्थिति में रोगी को ICU में भर्ती किया जाता है

  • अगर किसी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा कम हो जाता हो तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति को ICU में भर्ती किया जाता है.

  • अगर किसी व्यक्ति का गंभीर एक्सीडेंट हुआ हो या सांस ना आ रही हो तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति को ICU में भर्ती किया जाता है

ICU की विशेषताएँ

  • Neonatal Intensive Care Unit (NICU) - NICU का उपयोग नवजात जन्मे बच्चो से जुडी बीमारीयों का इलाज करने व उनकी देखभाल करने के लिए किया जाता है. इसमें सिर्फ केवल उन्ही नवजात जन्मे बच्चो का इलाज होता है जिन्होंने जन्म के बाद अब तक अस्पताल से छुट्टी नहीं ली हो.

  • Pediatric intensive care unit (PICU) - PICU में अस्थमा, इन्फ्लूएंजा, मधुमेह केटोएसिडोसिस, दर्दनाक मस्तिष्कऐसी बहुत सी बीमारियों का इलाज किया जाता है.

  • Psychiatric intensive care unit (PICU) - PICU में उन मरीज का इलाज किया जाता है जो मानसिक रूप से बीमार है और अपने आपको नुकसान पहुचाते है.

  • Coronary care unit (CCU) - CCU में जन्मजात ह्रदय रोग और ह्रदय से जुडी बीमारीयों का इलाज किया जाता है.

  • Mobile Intensive Care Unit (MICU) - यह एक एम्बुलेंस होती है इसमें ICU के सभी उपकरण पहले से ही मौजूद होते है और एक डॉक्टरों की टीम भी इसमें मौजूद होती है. इसमें मरीज के इलाज का वक्त न निकल जाये और बिना वक्त गवाए इसमें मरीज का इलाज किया जाता है.


Related Full Form in Hindi