IIT Full Form in Hindi




IIT Full Form in Hindi, IIT Ka Full Form Kya Hai, IIT Full Form in Hindi क्या होती है, IIT क्या होता है, IIT कैसे करें, IIT के लिए क्या Eligibility होती है, IIT करने की क्या Advantage है, IIT Ka Poora Naam Kya Hai, आईआईटी क्या है, IIT का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

IIT Full Form in Hindi - आई. आई. टी. क्या होता है

IIT की फुल फॉर्म Indian Institutes of Technology होती है. IIT को हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते है. IIT College से आप साइंस और टैकनोलजी का ज्ञान प्राप्त कर सकते है. IIT भारत सरकार द्वारा बनाया गया एक Educational Institutes का समूह है जो अच्छे-अच्छे Scientists, Engineers और Technologists भारत को और पूरी दुनिया को देता है. सबसे अधिक Salary Package IIT से निकले Students को ही मिलते है.

IIT Colleges की स्थापना की शुरुआत 1946 से हुई जब सर जोगेन्द्र सिंह जी ने भारत में औद्योगिक विकास के लिए Higher Tech Institute के निर्माण पर विचार किया. पहले IIT College की स्थापना सन 1950 मे Kharagpur मे Hijli Detention Camp में हुई थी.

IIT को पहली बार सन 1951 में Indian Institute of Technology के नाम से स्थापित किया गया. 15 September 1956 को Indian Institute of Technology खड़गपुर Act पारित किया गया जहाँ IIT को राष्ट्रीय महत्व के Institute के रूप में घोषित किया गया.

भारत में कुल 23 इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के संस्थान है. इन 23 संस्थानों में बी.टेक कोर्स के लिए कुल 11,279 सीटों की संख्या (2018) है. दुनिया की बड़ी बड़ी Companies मे इसी संस्थान से पढ़े Engineers को करोड़ों रुपए की सैलरी मिलती है. भारत ही नहीं दुनिया में सबसे Famous Engineering College यही है.

IIT मे आप Graduate और Post-Graduate प्रोग्राम जिसमे कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर आदि प्राप्त कर सकते है.

आई आई टी के लिए योग्यता

आई आई टी के लिए अगर योग्यता को देखा जाए तो 10+2 यानी 12th Class के अपने बोर्ड परीक्षा में शीर्ष 20 फ़ीसदी अंक प्राप्त करने वाले Student इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं अभी इसके लिए 75 फ़ीसदी अंक अनिवार्य है यह समय पर बदलता रहता है. भारत में कुल 32 बोर्ड हैं जो 12th के लिए परीक्षाओं का आयोजन करता है. Result के बाद हर बोर्ड का मूल्यांकन होता है और मूल्यांकन के आधार पर ही हर बोर्ड का आई आई टी का परीक्षा देने के लिए Percentage तय होता है !

अगर Age की बात किया जाए तो जिस उम्मीदवार का जन्म 01.10.1994 अथवा उसके बाद जन्म हुआ हो वही Student 2019 की परीक्षा दे पाएंगे लेकिन इसमें आरक्षण नीति के अनुसार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं विकलांग को 5 वर्षों की ऊपरी आयु में छूट मिलती है.

आई आई टी परीक्षा में प्रयासों की संख्या

आई आई टी परीक्षा के लिए प्रयासों की संख्या 3 तक सीमित है.

आई आई टी परीक्षा की फ़ीस

पिछले कुछ सालों से IT की परीक्षा में बहुत बदलाव हुआ है अब यह परीक्षा Pen paper offline के अलावा Computerized Online भी होती है. इन दोनों ही प्रारूप की परीक्षाओं में शामिल होने के लिए Fees भी अलग-अलग होती है.

आई आई टी परीक्षा पैटर्न

आई आई टी की परीक्षा में दो पेपर होते है.

  • पेपर-1 (बी.ई/बी.टेक)

  • पेपर-2 (बी.आर्क/बी.प्लानिंग)

पेपर-1 (बी.ई/बी.टेक)

पेपर-1 में गणित, रसायन विज्ञान तथा भौतिक विज्ञान के 30-30 प्रश्न होते हैं और प्रत्येक प्रश्न चार अंको का होता है कुल 90 प्रश्न होते हैं तथा कुल पूर्णाक 360 अंको का होता है.

पेपर-2 (बी.आर्क/बी.प्लानिंग)

पेपर-2 में गणित के 30 प्रश्न जो 120 अंकों का एप्टिट्यूड टेस्ट के 50 जो 200 अंको का होता है और ड्राइंग टेस्ट के 2 प्रश्न जो 70 अंको के होते हैं और कुल समय 3 घंटे का होता है.

IIT मे एडमिशन कैसे मिलता है

IIT मे Admission लेने के लिए JEE (Advanced Joint Entrance Examination और GATE (Graduate Aptitude Test in Engineering) यह दोनो Entrance Exam Pass करने पड़ते है.

IIT मे स्नातक स्तर पर पढ़ाई करने के लिए दो चरणों के कठिन प्रवेश परीक्षा से गुजरना पड़ता है जिसके लिए लाखों की संख्या मे Students इस परीक्षा की तैयारी करते है.

IIT प्रवेश परीक्षा को दो चरणो में आयोजित किया जाता है पहला चरण का नाम Main है जबकि दूसरा चरण का नाम Advance है. JEE मुख्य परीक्षा Main के शीर्ष 1.5 लाख Students को ही Advance परीक्षा देने का मौका मिलता है.

JEE संस्था पूरे भारत के Students के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करता है. इन मे सफल परीक्षार्थियों को IIT, NIIT, CFTI, SFI एव अन्य Participant Engineering Colleges मे BTech / BE और B ARCH / B Planning के Course मे Admission मिलता है.

IIT के लिए होने वाला संयुक्त प्रवेश परीक्षा का संचालन अब तक, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड CBSE करता था. भारत सरकार के ताज़ा घोषणाओं के अनुसार IIT के लिए प्रवेश परीक्षा साल मे दो बार National Tasting Agency Conduct करेगा.

रजिस्ट्रार IIT के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी होने के नाते भारत के विभिन्न हिस्सों में स्थित उच्च शिक्षा के इन 23 संस्थानों के दिन-प्रतिदिन के कार्यों का साक्षात्कार करते हैं. जिसकी सूची उनके फाउंडेशन के कालानुक्रमिक क्रम में नीचे दी गई है.

S.No Name Founded Established Place/State
1  IIT Roorkee 1847 2001 Uttarakhand
2 IIT (BHU) Varanasai 1919 2012 Uttar Pradesh
3 IIT (ISM) 1926 2016 Jharkhand
4 IIT Kharagpur 1951 1951 West Bengal
5 IIT Bombay 1958 1958 Maharashtra
6 IIT Kanpur 1959 1959 Uttar Pradesh
7 IIT Madra 1959 1959 Tamil Nadu
8 IIT Delhi 1961 1963 Delhi
9 IIT Guwahati 1994 1994 Assam
10 IIT Ropar 2008 2008 Punjab
11. IIT Bhubaneswar 2008 2008 Odisha
12. IIT Gandhinagar 2008 2008 Gujarat
13 IIT Hyderabad 2008 2008 Telangana
14 IIT Jodhpur 2008 2008 Rajasthan
15 IIT Patna 2008 2008 Bihar
16 IIT Indore 2009 2009 Madhya Pradesh
17 IIT Mandi 2009 2009 Himachal Pradesh
18 IIT Pllakkad 2015 2015 Kerala
19 IIT Tirupati 2015 2015 Andhra Pradesh
20 IIT Bhilai 2016 2016 Chattisgarh
21 IIT Goa 2016 2016 Goa
22 IIT Jammu 2016 2016 Jammu and Kashmir
23. IIT Dharwad 2016 2016 Karnataka

यद्यपि उपरोक्त IIT में से प्रत्येक एक स्वराज्य के अधीन Institute है, फिर भी वे एक आम IIT परिषद के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े हुए हैं, जो उनकी प्रशासन प्रक्रिया की देखरेख करता है. मानव संसाधन विकास मंत्री, IIT परिषद के पदेन अध्यक्ष हैं. 2017 तक, सभी IIT में स्नातक कार्यक्रमों के लिए सीटों की कुल संख्या 11,032 है. इन यूजी पाठ्यक्रमों में प्रवेश सामान्य प्रतिस्पर्धा में जेईई (एडवांस) के रूप में जाना जाता है एक बहुत ही प्रतियोगी संयुक्त प्रवेश परीक्षा के माध्यम से किया जाता है. यह परीक्षा आमतौर पर अप्रैल-मई के महीने में आयोजित की जाती है, जो इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी की विभिन्न शाखाओं में प्रवेश प्रदान करने के लिए लगभग 3,50,000 इच्छुक उम्मीदवारों में से हर साल लगभग 10,000 स्नातक उम्मीदवारों का चयन करती है.

IIT अन्य स्नातक डिग्री जैसे मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री, एमबीए, इत्यादि भी प्रदान करते हैं. आईआईटी के इन कार्यक्रमों में प्रवेश कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट), एमएससी के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा के माध्यम से किया जाता है. JAM और डिजाइन के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा CEED IIT गुवाहाटी और IIT बॉम्बे स्नातक डिजाइन कार्यक्रमों की पेशकश करते हैं.

जबकि स्नातकोत्तर स्तर के कार्यक्रम में प्रवेश जो एम.टेक, एमएस डिग्री और इंजीनियरिंग में पीएचडी की पेशकश करने वाले डॉक्टरेट कार्यक्रम को पुराने आईआईटी द्वारा प्रशासित किया जाता है. M.Tech और MS प्रवेश ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) के आधार पर किया जाता है.

सभी आईआईटी को दी गई स्वायत्तता के कारण इन स्वायत्त विश्वविद्यालयों ने अपने स्वयं के पाठ्यक्रम का Draft तैयार किया है, और भारत के उन कुछ संस्थानों में से हैं जो बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (बीई) के बदले में स्नातक स्तर पर प्रौद्योगिकी (B.Tech) में डिग्री प्रदान करते हैं. IIT, LAOTSE के सदस्य भी हैं, जो यूरोप और एशिया के विश्वविद्यालयों का एक अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क है. LAOTSE सदस्यता आईआईटी को छात्रों और वरिष्ठ विद्वानों को अन्य देशों के विश्वविद्यालयों के साथ आदान-प्रदान करने की अनुमति देते है.

IIT 4 Year Course

आईआईटी द्वारा प्रस्तुत कुछ लोकप्रिय पाठ्यक्रमों की सूची निम्नलिखित है -

Course Duration
Aerospace Engineering 4 years
Chemical Engineering
4 years
Civil Engineering
4 years
Computer Science and Engineering 4 years
Electrical Engineering
4 years
Mechanical Engineering 4 years
Metallurgical and Materials Engineering 4 years
Electronics and Communication Engineering 4 years
Instrumentation Engineering 4 years

भारत के सभी IIT Colleges के नाम

  • IIT Kharagpur

  • IIT Bombay

  • IIT Kanpur

  • IIT Madras

  • IIT Delhi

  • IIT Guwahati

  • IIT Roorkee

  • IIT Ropar

  • IIT Bhubaneswar

  • IIT Gandhinagar

  • IIT Hyderabad

  • IIT Jodhpur

  • IIT Patna

  • IIT Indore

  • IIT Mandi

  • IIT (BHU) Varanasi

  • IIT Palakkad

  • IIT Tirupati

  • IIT (ISM) Dhanbad

  • IIT Bhilai

  • IIT Goa

  • IIT Jammu

  • IIT Dharwad


Related Full Form in Hindi