ISO Full Form in Hindi




ISO Full Form in Hindi, ISO Ka Full Form Kya Hai, ISO का Full Form क्या है, ISO क्या है, आईएसओ क्या है, ISO का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

ISO Full Form in Hindi ISO - ISO क्या है

ISO की फुल फॉर्म International Organization for Standardization होती है. ISO को हिंदी मे अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण संगठन कहते है. ISO Organization की स्थापना 23 Feb 1947 मे हुयी थी.

इसका मुख्यालय Switzerland के Geneva शहर मे ISO Organization मे दुनिया भर के अलग अलग देशो के Representative है. जिनमे कुल मिलकर ISO के 163 देश मानक सदस्य है. यह एक Non-Governmental, Non-Profitable, World Organization है. जो Business Companies को उत्पादन, खाद्य, कृषि और सुरक्षा प्रदान करते है.

किसी भी Company मे बनने वाले Product और उनकी Services की Quality के आधार पर यह World Wide ISO Organization उस Company को उनके Product Market मे लाने का Certificate देते है. देशो के बीच होने वाले खाद्य व्यापार की शुद्धता जाचने के लिए यह बहुत बड़ी Develop Organization है जो विश्व बाजार मे राष्ट्रों को सुविधा Provide कराती है.

ISO का अभी Latest Version 9001 है जिसके आधार पर सभी चीजो की Information Check की जाती है. इससे पहले इसका Version 9000 था. लेकिन यह समय के साथ साथ Update होते रहते है.

List Of Popular ISO

कुछ सबसे ज्यादा Popular ISO के नाम आप नीचे देख सकते है जो अलग अलग कार्य के लिए उपयोग होते है

  • ISO 9000 - इसका उपयोग गुणवत्ता प्रबंधन के मानकीकरण के लिए किया जाता है.

  • ISO 50001 - इसका उपयोग ऊर्जा प्रबंधन के लिए एक मानक के किया जाता है.

  • ISO 14000 - इसका उपयोग पर्यावरण प्रबंधन के मानकीकरण के लिए किया जाता है.

  • ISO 10012 - इसका उपयोग प्रबंधन प्रणाली को मापने के लिए किया जाता है.

  • ISO 2768-1 - इसका उपयोग सामान्य सहिष्णुता के लिए मानक प्रदान करने के लिए किया जाता है.

  • ISO 31000 - यह जोखिम प्रबंधन के लिए एक मानक के लिए किया जाता है.

Benifets of ISO Certificates

अगर आप खुद का Business Start करना चाहते है तो उनके लिए आपको अपनी Company को ISO के द्वारा verify करवाना पड़ेगा उसके बाद ISO Certificate आपकी Company के Product की Accuracy को देखते हुए दिया जायेगा. ISO Certificate आपकी Company मे बनने वाले Products की Quality को Show करता है.

  • कुशलता सुधारना

  • गुणवत्ता सुधारना

  • एक उच्च स्तर का ग्राहक सेवा

  • कर्मचारियों के सदाचार और प्रेरणा को बढ़ाना

  • बाजार की क्षमता को बढ़ाना

  • अनुपालन को सुधारना

  • दस्तावेज़ नियंत्रण (यह सुनिश्चित करना कि सही समय पर सही जगह पर सही दस्तावेज हों)

  • रिकॉर्ड नियंत्रण (यह पुराने रिकॉर्ड खोजने का प्रभावी तरीका है)

  • आंतरिक समीक्षा (प्रबंधन प्रणाली की गहराई से समीक्षा करना, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि प्रणाली सुचारू रूप से काम कर रही है या नहीं)

  • नॉ कन्फॉर्मेन्स (यह तब होता है जब कोई काम नियोजित प्रक्रिया के अनुसार नहीं होता है)

  • नॉ कन्फॉर्मेन्स को सुधारने के लिए निवारक व सुधारात्मक कार्रवाही की जाती है


Related Full Form in Hindi