ISRO Full Form in Hindi




ISRO Full Form in Hindi, ISRO Ka Full Form Kya Hai, ISRO का Full Form क्या है, ISRO Ka Poora Naam Kya Hai, इसरो क्या है, ISRO का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

ISRO Full Form in Hindi - ISRO क्या होता है

ISRO की फुल फॉर्म Indian Space Research Organization होती है. ISRO को हिंदी में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन कहते है. ISRO एक भारतीय Organization है जो अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरिक्ष Technology का कार्य करती है.

यह दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसियों में से एक है. यह प्रसारण, संचार, मौसम पूर्वानुमान, भौगोलिक सूचना प्रणाली, टेलीमेंडिसिन, दूरस्थ शिक्षा उपग्रह आदि जैसे देश के लिए विशिष्ट विशिष्ट उत्पादो और उपकरणो का विकास करता है. AS Kiran Kumar 2015 के बाद ISRO के अध्यक्ष है.

ISRO का मुख्य काम हमारे देश को अंतरिक्ष (Space) से Related सभी टैकनोलजी उपलब्ध करना है. ISRO द्वारा किये गए सभी कार्यो में Launch Vehicles और Rocket का Development करना शामिल है. Rocket उस Vehicles को कहा जाता है जिससे के द्वारा Satellite को छोड़ा जाता है. ISRO के पास आज के समय में 2 मुख्य Rocket है जैसे की PSLV और दूसरा GSLV है. PSLV का Use छोटे तथा हल्के Rocket को छोड़ने के लिए किया जाता है. जबकि GSLV का Use भारी Satellites को छोड़ने के लिए किया जाता है.

ISRO का इतिहास

ISRO की स्थापना 1969 में हुई थी उस समय हमारे देश के Prime Minister पंडित जवाहर लाल नेहरु थे और ISRO के मुख्य या फिर Chairman Scientist Doctor Vikram Sarabhai थे. ISRO का मुख्यालय Bangalore में स्थित है. यह भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग के तहत काम करता है. अंतरिक्ष विभाग स्वयं प्रधान मंत्री और अंतरिक्ष आयोग के अधिकार में आता है. ISRO अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग में लगी हुई है और यह राष्ट्रीय लाभ के लिए काम करता है. डॉ विक्रम साराभाई को भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक के रूप में जाना जाता है.

ISRO की उपलब्धियां

Mars Orbiter Mission - Mars Orbiter को सन 2014 में मंगल ग्रह पर भेजा गया था. भारत मंगल ग्रह पर पहला प्रयास में पहुंचने वाला पहला देश बना. अब तक Mars तक केवल 4 ही अंतरिक्ष संगठन ही पहुंच पाए है और भारत उनमें से एक है. Mars Orbiter Mission का बजट 450 करोड़ था जो की मंगल ग्रह पर पहुचने के लिए अब तक का सबसे कम बजट है.

Chandrayaan 1 - 22 अक्टूबर, 2008 को चंद्रयान प्रक्षेपण किया गया जो की भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धी थी. यह चन्द्रमा पर भारत का पहला विशेष कार्य था. इस विशेष कार्य का उद्देश्य चन्द्रमा पर स्थलाकृति और रासायनिक विशेषताओं का पता लगाना था. कुछ समय बाद ISRO ने चन्द्रमा से सम्पर्क खो दिया था.

Polar Satellite Launch Vehicle - ISRO ने 15 फ़रवरी, 2017 को एक इतिहास रचा ISRO ने अंतरिक्ष में एक साथ 104 Satellites को Launch किया. ISRO ने एक साथ 104 Satellite अंतरिक्ष में Launch करके World Record कायम किया है.

ISRO की महत्वपूर्ण जानकारी

  • ISRO की एक खास बात यह है इसमें ज्यादा तर ऐसे वज्ञानिक काम करते है जिन्होंने शादी नहीं की.

  • ISRO की वजह से हमारा देश भी उन 6 देशों में शामिल हो गया है जो अपना Satellite खुद भेज सकते है.

  • ISRO की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है ये मंगल यानि Mars पर एक बार में ही पंहुचा ऐसा काम अभी तक कोई देश नहीं कर पाया है.

  • ISRO के द्वारा पहला Satellite 19 April 1975 को Launch किया गया था और इसका नाम आर्यभट्ट रखा गया था.


Related Full Form in Hindi