MC Full Form in Hindi




MC Full Form in Hindi, MC का Full Form क्या है, MC क्या होता है, एम.सी क्या है, MC का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालो के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

MC Full Form in Hindi - एम.सी क्या होता है

MC की फुल फॉर्म Menstrual Cycle होती है. इसको हिंदी मे मासिक धर्म कहते है. Menstrual Cycle और MC या मासिक धर्म यह महिला प्रजनन प्रणाली मे होने वाली नियमित प्राकृतिक परिवर्तनो को संदर्भित करता है. लड़कियों मे पहला चक्र आम तौर पर बारह और पन्द्रह वर्ष की उम्र के बीच शुरू होता है और 45 वर्ष की आयु तक जारी रहता है.

मासिक धर्म सभी लड़कियों को एक ही उम्र में नहीं होता है. कुछ लड़कियों को मासिक धर्म 8 से 17 वर्ष तक ही उम्र में हो सकता हैं और कुछ विकसित देशों में लड़कियों को 12 या 13 साल की उम्र में पहला मासिक धर्म होता है. हालाकि सामान्य तौर पर मासिक धर्म 11 से 13 वर्ष की उम्र में लड़कियों का शुरू हो जाता है.

किसी भी लड़की को किस उम्र में मासिक धर्म शुरू होगा, यह कई बातों पर निर्भर करता है. क्योंकि यह लड़कियों के Jeans की रचना और खान पान काम करने पर और वह किस जगह पर रहती है, उस स्थान की ऊंचाई कितनी है आदि पर निर्भर करता है.

सभी लड़कियों को पीरियड्स या मासिक धर्मम महीने में एक बार आता है. यह चक्र सामान्य तौर पर 28 से 35 दिनों का होता है. महिला जब तक गर्भवती न हो जाए मासिक धर्म हर महीने आता है. कुछ लड़कियों या महिलाओं को मासिक धर्म 3 से 5 दिनों तक रहती है, तो कुछ को 2 से 7 दिनों तक. इस चक्र की औसत लंबाई 28 दिन होती है जो चार अलग चरणो मे विभाजित होती है.

  • Menstrual Phase - इस चरण मे गर्भाशय की टूटी हुई अस्तर रक्त के रूप मे योनि से निकलती है. यह रक्तस्राव आमतौर पर 3-4 दिनो तक रहता है.

  • Follicular Phase - यह मासिक धर्म चक्र का पहला चरण होता है. यह मासिक धर्म चरण के बाद शुरू होता है जब रक्तस्राव बंद हो जाता है. इस चरण मे कूप अंडे को छोड़ने के लिए तैयार होता है आमतौर पर केवल एक कूप अंडे मे विकसित होता है.

  • Ovulatory Phase - यह चरण चक्र के लगभग 14 वे दिन शुरू होता है. इस चरण मे अंडे अंडाशय से मुक्त होता है और फलोपियन ट्यूब मे निर्देशित होता है. यदि फलोपियन ट्यूब मे शुक्राणु मौजूद नही है तो निषेचन नही होता है और अंडा 24 घंटे के भीतर विघटित हो जाता है.

  • Luteal Phase - इस चरण मे पिछले चरण मे निषेचन नही होने पर कूप के अवशेष को कॉर्पस ल्यूटियम कहा जाता है. यह गर्भाशय की आंतरिक परत के विघटन की ओर जाता है जो रक्तस्राव या मासिक धर्म चरण की शुरुआत का कारण बनता है.


Related Full Form in Hindi