PO Full Form in Hindi




PO Full Form in Hindi, PO Ka Full Form Kya Hai, PO का Full Form क्या है, PO Ka Poora Naam Kya Hai, पी.ओ क्या है, PO का पूरा नाम और हिंदी मे क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post मे मिल जायेंगे.

PO Full Form in Hindi - पी.ओ क्या होता है

PO की फुल फॉर्म Probationary Officer होती है. इसको हिंदी मे प्रमाणीकरण अधिकारी कहते है. यह भारतीय बैंको मे नई भर्ती के लिए एक प्रवेश स्तर पोस्ट है. इस पोस्ट को Probationary Officer के रूप मे जाना जाता है क्योंकि इस पोस्ट मे नए भर्ती Freshers को Probation की कुछ अवधि के लिए सेवा दी जाती है. एक Probationary Officer किसी भी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में एक सहायक प्रबंधक का पदनाम रखता है. एक आकर्षक कैरियर विकल्प और एक सफेद कॉलर नौकरी होने के नाते, लाखों छात्र आईबीपीएस पीओ या एसबीआई पीओ के माध्यम से इस प्रतिष्ठित स्थिति में शामिल होने के लिए बैंक पीओ परीक्षा के लिए Competition करते हैं

कई अन्य सरकार और प्राइवेट बैंक अब पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस प्रोग्राम के माध्यम से पीओ के पद के लिए अपना अलग भर्ती अभियान भी चलाते हैं. पीजीडीबीएफ के माध्यम से उम्मीदवारों को पीजी डिप्लोमा कार्यक्रम के 9 महीने के विस्तृत पाठ्यक्रम के लिए नौकरी प्रशिक्षण के 3 महीने के बाद नामांकित किया जाता है, जिसके बाद उन्हें बैंक में Assistant Manager के रूप में नियुक्त किया जाता है.

Probation की अवधि मे उम्मीदवार को अपने वरिष्ठ नागरिको द्वारा दिए गए कार्यों को पूरा करना होगा और बैंको के विभिन्न क्षेत्रो जैसे Opening Accounts, Cheque Processing, Foreign Exchange, Loans, Credit Rating, Treasury इत्यादि मे काम करना होगा. इस पूरे Probationary अवधि मे बैंक को कर्मचारी को अपनी सेवा से समाप्त करने का अधिकार होता है.

यदि आपका उद्देश्य एक Probationary Officer बनना है और बैंकिंग क्षेत्र में एक शानदार अवसर के साथ अपना करियर शुरू करना है, तो आपको इन कुछ प्रमुख भर्ती प्रक्रियाओं के लिए तैयार होना चाहिए. इसके लिये आपको बहुत अच्छी तैयारी करनी चाहिए .

PO के लिय योग्यता

IBPS PO, SBI PO और अन्य Probationary Officer दोनों के लिए योग्यता समान होती हैं. इन परीक्षाओं के लिए योग्य होने के लिए बुनियादी दो आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक उम्मीदवार की आवश्यकता होती है। एक उम्मीदवार को परीक्षा में बैठने के लिए आवश्यक आयु सीमा होनी चाहिए। अर्थात उम्मीदवार को आईबीपीएस पीओ या एसबीआई पीओ परीक्षा के लिए आवेदन करने से पहले न्यूनतम 20 वर्ष की आयु का होना आवश्यक है. इसके अलावा, SBI PO और IBPS PO के लिए आवश्यक न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक है.

एक उम्मीदवार जो बैंक पीओ के लिए आवेदन करना चाहता है, उसे किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी करनी चाहिए. Bank PO के लिय आपको किसी भी विश्वविद्यालय से स्नातक पास होना चाहिए. बैंक पीओ के लिए शैक्षिक योग्यता बीए, बीकॉम, बीएससी निर्धारित है तथा इंजीनियरिंग ग्रेजुएट भी Bank PO की परीक्षा दे सकते है. और इसके लिये आपका Graduation पूरा होना चाहिए चाहे आपने किसी भी विषय में स्नातक किया हो तथा ग्रेजुएशन 55% प्रतिशत से पास होना जरुरी है.

आयु सीमा

किसी भी Bank मे Po के पद के लिए Apply करने के लिए उम्मीदवार की उम्र 18 से 30 वर्ष होनी चाहिये तथा ओबीसी वर्ग के लिए 3 साल की छुट है एससी, एसटी वर्ग के लिए 5 साल की छुट है और जनरल वर्ग के लिए 10 साल की छुट है

PO की सैलरी

बैंक पीओ की सैलरी 23,700 होती है. इसके अलावा, डीए, परिवहन भत्ता, एचआरए, सीसीए आदि जैसे कई भत्ते इस प्रकार एक Probationary Officer को सब कुछ मिलकर 38,703 सैलरी मिलती हैं. सभी बैंकों में एसबीआई और आईपीपीबी एक हैं जहां एक बैंक पीओ अन्य बैंकों की तुलना में अधिकतम सैलरी का हकदार होता है.

PO के कार्य

PO का कार्य बहुत ही प्रभावशाली होता है इसकी भूमिका बैंक मे सबसे सर्वश्रेष्ठ होती है. यह अपना कार्य बहुत ही बेहतर तरीके से करता है यहाँ पर हम आपको पीओ के कार्य के बारे में बताएँगे.

  • ऋण प्रदान करना – PO का एक कार्य यह भी होता है वह ग्राहको को ऋण प्रदान करता है.

  • अन्य जानकारी रखना – PO को अन्य क्षेत्रो की जानकारी भी रखनी होती है जैसे कि Loan, Marketing, Accounting, Finance आदि की जानकारी भी PO को रखनी होती है.

  • ग्राहकों को सेवाए उपलब्ध करना – PO को ग्राहको की सुविधाओ का भी ध्यान रखना होता है जो उन्हें बैंकिंग सुविधाए उपलब्ध करता है, जैसे कि ATM Card, Check Book, PassBook तथा ग्राहको की समस्याओ, नकद लेनदेन के मामले, खाते को लेकर कोई समस्या आदि से सम्बंधित जानकारी देता है.


Related Full Form in Hindi