HDD VS SSD में क्या अंतर है




Hello Friends Tutorialsroot मे आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post में HDD और SSD के बारे में बताने जा रहे है जिसमे आपको HDD और SSD के बारे में सीखने को मिलेगा हमे आशा है की पिछली बार की तरह इस बार भी आप हमारी Post को पसंद करेंगे. बहुत कम लोग ही जानते होंगे की HDD और SSD क्या है और इनका उपयोग कैसे और क्यों किया जाता है अगर आप इनके बारे में नही जानते तो कोई बात नहीं हम आपको इनके बारे में पूरी तरह से जानकारी देंगे इसके लिए हमारी Post को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े.

दोस्तों जब आप बाजार में कोई Laptop खरीदने जाते है तो आपको उन Laptop में HDD और SSD Hard Disk देखने को मिलती है. यह दोनों काम तो एक ही करती है पर इन दोनों में बहुत अंतर होता है. ऐसे में सभी Confuse हो जाते है कि कौन सी Hard Disk लेनी चाहिए. लेकिन अब आप ज्यादा Confuse नहीं होंगे क्योकि आज हम आपको इस पोस्ट में बताएंगे SSD VS HDD में आखिर कौन सी Storage Drive Best है.

दोस्तो अगर आपकी जरुरत Fast boot-up और Fast Memory की है तो आपके लिये SSD बेहतर रहेंगी हलाकि HDD भी अपनी जगह बेहतर होती है लेकिन आपको अपनी Requirement को पहचानना है. तो आईये जानते है SSD और HDD क्या है और इनमे क्या अंतर होता है.

HDD क्या है - What is HDD in Hindi

HDD की फुल फॉर्म Hard Disk Drive होती है. HDD एक Storage Drive हैं इसका Use बहुत समय से किया जा रहा है. IBM ने इसका का आविष्कार सन 1956 में किया था. इसमें मूवी के Parts होते है. HDD में Data को Read और Write करने के लिए Spinning Platter लगे होते है जो चक्कर लगाते रहते है और जितनी Speed से ये Spinning Platter चक्कर लगाते हैं उतनी ही जल्दी Data Read और Write होता है. अधिकतर HDD 5400 rpm और 7200 rpm Speed के साथ आती है.

पहले HDD की Storage Capacity 5 MB थी और इसक Weight 250 kg था. IBM ने 1980 में इसमें सुधार कर एक New Hard Disk बनायीं जिसकी Storage Capacity को पहले के मुकाबले बहुत अधिक तकरीबन 2.5 GB किया गया यह Size और Weight में बहुत बड़ी थी. HDD को 2018 में Laptop और Computer में 500 GB Minimum Storage Capacity का रूप दिया गया है. HDD आपको 1000 GB (1TB) में भी आसानी से मिल जायेगी. वैसे HDD और SSD दिखने एक जैसे ही होती है. Laptop में Use की जानी वाली HDD की मोटाई 2.5 Inch और Computer में यह थोड़ी मोटी 3.5 Inch की होती हैं

Advantages of HDD

  • यह बहुत सस्ती होती है

  • यह आपको बाजार में बहुत आसानी से मिल जाती है

  • HDD ज्यादा Capacities की बहुत आसानी से मिल जाती है

Disadvantages of HDD

  • यह बहुत ज्यादा Power Consume करती है

  • इसका Size और Weight भी ज्यादा होता है.

  • इसमें Data के Lost होने का खतरा ज्यादा होता है.

  • इसमें Data Read Write की Speed कम होती है.

  • यह एक Mechanical Device है इसलिए इसमें बहुत Problems आती रहती है.

SSD क्या है - What is SSD in Hindi

SSD की फुल फॉर्म Solid State Device होती है. SSD भी एक Storage Drive हैं SSD HDD के जैसे ही होती है यह वो हर काम कर सकती हैं जो HDD करती है. SSD में नई तकनिकी का उपयोग किया गया हैं इसमें कोई Moving Parts नहीं होता है. SSD पॉवर ना होने पर भी काम करती रहती है. इसमें Data Write और Read Electronically होता है. SSD में NAND-based Flash Memory का उपयोग किया जाता है जिससे System के Off होने के बाद भी Data Loss नहीं होता है.

इसमें Data को Micro Chip में Store करके रखा जाता है. SSD पहली बार जब बाजार में आया था तब लोगों का इसके ऊपर इतना विश्वास नहीं था लेकिन अब इस SSD को बहुत लोग उपयोग कर रहे है. SSD की Life बहुत ज्यादा होती है क्योंकि इसमें Moving Parts नहीं होते है जिससे इसके खराब होने की समभावना बहुत कम होती है. SSD Pen Drive, Memory Card के जैसे Work करती हैं और इसकी Speed HDD से कई गुना ज्यादा होती हैं पर इसकी कीमत HDD से 3-4 गुना ज्यादा होती है.

Advantages of SSD

  • यह Data को बहुत तेजी से Read करती है.

  • इसका Size और Weight बहुत कम होता है.

  • इसमें Power Consumption बहुत कम होती है.

  • इसकी Life Normal HDD बहुत ज्यादा होती है.

  • इसमें कोई Moving Parts नहीं होते है तो इसलिये इसके खराब होने के Chance बहुत ही कम होता है.

Disadvantages of SSD

  • यह मार्केट में आसानी से नहीं मिलती है

  • यह HDD से बहुत ज्यादा Expensive होती है

  • इसमें आपको Storage Capacity कम मिलती है

Computer Article in Hindi