Internet of Things Kya Hai - What is Internet of Things in Hindi




Technology का विस्तार अब अगले पड़ाव की ओर बढ़ चुका है. अब Technology की परिभाषा Smartphones, TVs, या Smart Watch तक ही सीमित नहीं रह गई है. इसकी जगह अब Internet of Things ने ले ली है. इसके बारे मे विस्तार से जानने से पहले आइए जान लें की आखिर Internet of Things है क्या और किस तरह यह Technology का भविष्य कहा जा रहा है.

Internet of Things Networking को कहा जाता है. अब आपके मन में सवाल होगा की यह किस तरह की Networking है. इस Networking में आपके उपयोग के सभी Gadgets और Electronic Devices एक-दूसरे से Connect होते है. यह Technology बेहद उपयोगी होती है. Technology ने हमारी रोजमर्रा की जिन्दगी को कितना आसान बना दिया है यह तो आप सभी जानते है. यह Technology भी वही करती है. इसे आसान भाषा मे एक उदहारण के जरिए समझाया जा सकता है. Internet of Things के अंतर्गत आपका एक Device आपके Home, kitchen आदि में मौजूद अन्य Devices को Command देता है. इस तरह से एक Device को Internet के साथ Link कर के बाकी Devices से अपने अनुसार कुछ भी कार्य करवाया जा सकता है. जैसे की - एक Car Insurance Company अपने Policy Holders को सेंसर के माध्यम से किसी ऐसे क्षेत्र मे बढ़ने से Warning दे सकती है जहां चक्रवात या कोई और आपदा आने की आशंका हो.

Internet of Things की मदद से आप Security, Gardening, Music, Automobile, Kitchen सभी Devices को एक-साथ Connect कर के कई काम कर सकते है.

Internet of Things कैसे काम करता है

Internet of Things कैसे काम करता है इसे समझाने के लिए नीचे कुछ Applications और Devices के उदाहरण दिए गए है -

  • Smart Home - Smart Home Internet of Things की सबसे Popular Applications है. Amazon Echo से लेकर Nest Thermostat तक ऐसे हजारों Products हैं जिन्हे Users अपनी आवाज से Control कर सकते है

  • Viebreables - Watch अब समय बताने तक ही सीमित नहीं रही है. Apple Watch समेत बाजार में ऐसी कई Watch उपलब्ध हैं जिनसे अब Text Messages, Phone Calls और कई काम किये जा सकते है. इसी के साथ Fitbit और Jawbone जैसे Devices ने फिटनेस की दुनिया को बदल दिया है.

  • Smart Cities - Internet of Things से लोगों की रोजमर्रा में आने वाले परेशानियों को बहुत आसानी से हल किया जा सकता है. इससे क्राइम, प्रदूषण, ट्रैफिक की समस्या आदि से आसानी से निपटा जा सकता है.

  • Connected Car - इन वाहनों में Internet Access होता है और यह Access दूसरों के साथ शेयर भी किया जा सकता है.

Internet of Things Devices के उदाहरण

  • Amazon Echo - Smart Home - Amazon Echo Voice Assistant Alexa के जरिए काम करता है. इसमे Users अलग-अलग कार्य करवाने के लिए बात कर सकते है. Users Alexa को Music Play करने मौसम की जनकारी देने, खेल का स्कोर बताने, टैक्सी बुक करने जैसे कई काम करवा सकते है.

  • Fitbitt One-Virreables - Fitbitt One Track करता है की आप कितना चले है अपने कितनी कैलरीज बर्न की हैं या आप कितना सोए हैं आदि इसी के साथ यह Device आपके Smart Phone या Computer से Link हो कर आपके फिटनेस Data को Chart मे भी तब्दील कर देता है ताकि आप अपनी फिटनेस Progress आसानी से Track कर सके.

  • Barcelona-Smart City - यह Spanish City Smart City में से सबसे पहले आती है. यहां कई Internet of Things की योजनाओं को लागू किया गया है. इससे स्मार्ट पार्किंग और वातावरण को साफ रखने में मदद मिली है.

  • Astrum AL 150 Lock - Security - इन Bluetooth आधारित Lock में आपको चाबी या किसी कॉम्बो लॉक की जरुरत नहीं पड़ती. ये Lock Android और IOS Devices को सपोर्ट करता है. इसे आप घर में मौजूद अन्य Gadgets के साथ आसानी से Connect कर सकते है.

Business Insider द्वारा किए गए शोध के अनुसार, 2020 तक 24 अरब से अधिक Internet से जुड़ी Device दुनिया भर में लग चुकी होंगी. इस संदर्भ को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि धरती पर हर इंसान के लिए चार से अधिक Device होंगी. इन Devices मे Things of Internet शामिल है और इसकी उपस्थिति हमारी दुनिया को स्थायी रूप से बदल रही है.

Internet of Things की भारत में क्या स्थिति है

केंद्र सरकार ने अक्टूबर 2014 में Internet of Things पर मसौदा नीति जारी की थी. Digital India Smart City पहल के साथ तालमेल की परिकल्पना के साथ अप्रैल 2015 में कुछ संशोधनों के साथ इसे जारी किया गया.

इस नीति के तहत 2020 तक 15 बिलियन अमेरिकी डॉलर का Internet of Things उद्योग बनाने की परिकल्पना है. इसके अलावा सरकार की तैयारी Internet of Things Centers को भी Develop करने की है. 2020 तक Andra Pradesh को मुख्य IT Hub मे परिवर्तित करने के उद्देश्य से Andra Pradesh की सरकार ने भारत की पहली Internet of Things नीति 2016 को मंजूरी प्रदान की.

यहां तक कि निजी क्षेत्र में अगस्त 2015 में Reliance Communications Limited ने संयुक्त राज्य अमेरिका आधारित Jasper Technologies के साथ एक समझौता कर भारत में Internet of Things सेवाओं में प्रवेश करने की कोशिश की.

Internet Article in Hindi