Network Hub क्या है - What is Network Hub in Hindi




Hub एक ऐसा Network Device होता है जो Multiple Ethernet Device को आपस मे जोड़ता है जिस से वो आपस मे Resources को शेयर कर सके और Data को ट्रान्सफर कर सके. Network Hubs को Repeaters भी कहा जाता है. Hub Layer 1 Device होते है. Hubs Computer को Communicate करने के लिए आपस में जोड़ने का कार्य करता है. Hubs Intelligent नहीं होते है. Hubs Logical और Physical Address के Base पे Data को Forward नहीं कर सकते है.

Hub कैसे काम करता है

जब कोई Host Frame Send करता है तो Hub उस Frame को सभी Ports में Forward कर देता है. Hubs Frame के Type को भी अलग अलग नहीं करता है चाहे Frame Uni Cast हो चाहे Multicast हो या Broadcast हो Hubs सभी Frame को सभी Ports में Forward कर देता है. एक Hub Frame को सभी Ports को भेजता है लेकिन Frame वही Accept करता है जिसका MAC Address Frame के Destination MAC Address Field से Match करता है. बाक़ी Hosts इसे Receive करने के बाद Discard कर देता है.

Hubs Half Duplex Communication Perform करता है. इससे कोई Host Data Send कर सकता है या Receive कर सकता है. इससे दोनों काम एक साथ नहीं किये जा सकते है इसलिए Hub में Frames बहुत ज्यादा Collision होते है. क्योंकि जब कोई एक Host Frame Send कर रहा होता है तो दूसरा Host भी उसी समय Frame Send कर रहा होता है इसलिए इसे Collision कहते है.

Collision से बचने के लिए एक Technique उपयोग की जाती है जिसे Carrier Sense Multiple Access with Collision Detection कहते है. इस Technique में कोई भी Host Frame Send करने से पहले Check करता है की Link Blank है या नही. अगर Link में कोई Signal होता है तो ये Host प्रतीक्षा करता है जब Link Blank हो जाती है तब ये Host अपना Frame Send करता है.

जब यह Collision होता है तो Frame Send करने वाले Hosts को पता चल जाता है और जो Frames Send किये गए थे वो Frames Destroy हो जाते है और Hosts एक जाम Signal Send करता है जो Show करता है की दोनों Hosts प्रतीक्षा करने वाले है. दोनो Hosts का इंतजार का समय अलग अलग होता है यानि एक Host यदि Back Frame Send करने से पहले 10 सेकंड प्रतीक्षा करेगा तो दूसरा Host 15 सेकंड प्रतीक्षा करेगा जिससे यह दुबारा Collision ना हो.

एक बात हमेशा याद रखे जब भी Hub से Connected दो Device एक साथ Frames Send करेंगे तो Collision होगा इसलिए Hub से Connected सभी Devices एक ही Collision Domain के अंदर आते है. Hubs Single Collision Domain को Represent करता है.

Types of Network Hub

Network Hub बहुत से प्रकार के होते है यहाँ आप नीचे कुछ Hub के प्रकार देख सकते है -

  • Active Hub - Active Hub हमारे Signal को Regenerate तो करते ही हैं साथ ही साथ Signal को Increase भी करते है. Acative Hubs को काम करने के लिए Electricity की जरूरत होती है.

  • Passive Hub - Passive Hubs Simply पीछे से आ रहे Signal को आगे Distribute कर देते है. Passive Hub किसी भी Signal को Regenerate नहीं करता है और न ही Increase इसलिए इसको काम करने के लिए Electricity की जरूरत नहीं पड़ती.

  • Intteligance Hub - Intteligance Hub Administrator को Network Traffic को Monitor करने में Help करता है और इसके हर Port को आप Individually Configure कर सकते है और इसको Manageable Hub के नाम से भी जाना जाता है.

Internet Article in Hindi