Pen Drive क्या है - What is Pen Drive in Hindi




Hello Friends Tutorialsroot मे आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post में Pen Drive के बारे में बताने जा रहे है जिसमे आपको Pen Drive के बारे में सीखने को मिलेगा हमे आशा है की पिछली बार की तरह इस बार भी आप हमारी Post को पसंद करेंगे. बहुत कम लोग ही जानते होंगे की Pen Drive क्या है और इसका उपयोग कैसे और क्यों किया जाता है अगर आप इसके बारे में नही जानते तो कोई बात नहीं हम आपको इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी देंगे इसके लिए हमारी Post को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े.

दोस्तों Memory Card और Pen Drive को हम सभी ने उपयोग किया है. एक तरफ Memory Card हमारे Smartphone और दूसरे Device की Memory बढ़ाने के काम आता है वहीं दूसरी तरफ Pen Drive की मदद से हम Data एक जगह से दूसरे जगह बहुत आसानी से ले कर जा सकते है. तो चलिए आगे जानते है की Pen Drive क्या है और कैसे काम करती है.

Pen Drive क्या है - What is Pen Drive in Hindi

Pen Drive को USB Flash Drive के रूप में जाना जाता है. Pen Drive एक Portable Device होती है. इसको हिंदी में स्मृतिशलाका कहते है जिसका अर्थ है कि इसे आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानांतरित किया जा सकता है क्योंकि यह Compact Design है इसलिए यह एक Pen के Size की तरह दिखती है और इसलिए इसे Pen Drive के रूप में नाम दिया गया है. Pen Drive का उपयोग कारीब कारीब पुरी दुनिया में सभी लोग करते है. Pen Drive को USB Port के जरिये Computer के साथ जोड़ा जा सकता है. इसे USB Universal Serial Bus भी कहा जाता है. एक Pen Drive में आमतौर पर एक बड़ी Storage Capacity होती है और यह Quick Data Transfers प्रदान करती है. Pen Drive बहुत ही छोटी छोटी होती है. Pen Drive अलग अलग Size में भी आती है और इसको Computer के साथ जोड़ना और हटाना बहुत ही आसान होता है. साथ ही आप इसमें Store किये हुए Data को Delete करके उसकी जगह दूसरे Data को भी आसानी से डाल सकते हो.

Pen Drive कैसे काम करती है

एक Pen Drive छोटे से Circuit Board से बना होती है ये Circuit Board Pen Drive का आधार होता है और ये Board ही Pen Drive में डाले गये सारे Data को Stored करता है. Pen Drive में एक Microchip लगी होती है जो कम विधुत पॉवर पर भी Data को खींचती है. यह EEPROMS Technology पर Work करती है इसकी सहायता से ही आप Pen Drive में Stored Data को Delete कर सकते हो और नये Data को Stored कर सकते हो.

Pen Drive को जब Computer के साथ Connect किया जाता है तब Pen Drive अपना काम शुरू करती है. जिस USB Port के जरिये इसे Computer के साथ Connect किया जाता है वो इसे Computer Program से जुडी सारी Information देता है. इस तरह से Computer Pen Drive के सारे Data को Read कर लेता है और फिर आप Pen Drive में Data का आदान प्रदान कर सकते हो.

Pen Drive का आविष्कार

Pen Drive को कई अलग-अलग नाम से जाना जाता है जैसे कि USB Drive Thump Drive Jump Drive Flash Drive USB Memory Pen Drive से पहले Floppy Disk का USE किया जाता था इसकी Minimum Storage 80 KV और और Maximum Storage 240 MB होती थी क्योंकि Floppy Disk एक Magnetic Storage है इसलिए Electromagnetic Interfaces हुआ करता था.

इसके बाद Storage के लिए सीडी का उपयोग किया जाना लगा लेकिन यह सीडी कुछ ज्यादा टाइम तक मार्किट में न चल सकी क्योकि इसके उप्पर लकीरे आ जाती थी और उसका सारा डाटा बिल्कुल खत्म हो जाता और फिर यह काम करना बंद कर देती थी.

इसलिए थोड़े समय बाद में एक Pen Drive आया Pen Drive का उपयोग लोग बहुत तेजी से करने लगे क्योंकि इसके दो फायदे थे एक तो यह बिल्कुल छोटी भी थी और दूसरा इसके अंदर सारा Data Safe रहता था. सबसे पहली बार Pen Drive को 1999 में इजराइल की एक Company M System को इसका Patent मिला यह Pen Drive Multi-Chip Dzire था. सबसे पहली Pen Drive की Storage Capacity 8 MB थी.

Pen Drive के Version

दोस्तों Pen Drive के दो Version होते है. जब भी आप Pen Drive लेने जाते हैं तो आपको दुकान पर इसके दो Version देखने को मिल सकते हैं. Pen Drive 2.0 और 3.0 वर्जन में आती हैं. 3.0 की Pen Drive 2.0 के मुकाबले तेज होती है. 3.0 100 MBPS Speed से Data Transfer करती है. वहीं 2.0 Version 15 MBPS तक की ही Speed देती है. ऐसे में आपको पता चल ही गया होगा कि तेज Data Transfer के लिए आपको कौन सी Pen Drive चुननी है

अगर आपको लगता है कि 3.0 Version की Pen Drive खरीद लेने से आपका Data तेजी के साथ Transfer होगा, तो भी आप गलत हैं. दरअसल 3.0 नया Version है जबकि ज्यादातर Laptop और Desktop में USB 2.0 Port ही मिलते हैं. ऐसे में अगर आप 3.0 Version भी लेते हैं, तो यह भी देखना होगा कि आपके पास जो Computer या Laptop हैं उसमें लगी USB Port का Version भी 3.0 ही हो. नहीं तो 2.0 Version वाले Port पर 10 से 15 MB प्रति सेकंड की ही Speed देगा.

Pen Drive दिन-प्रतिदिन पतली और छोटी होती जा रही है लेकिन एक Pen Drive का Size भी अहम रोल निभाता है. जब आप Pen Drive लें तो उसकी Size पर खास ध्यान दें क्योंकि Pen Drive का Size जितना बड़ा होगा और वह जितनी मोटी होगी, Quality के मामले में उसके उतना अच्छा होने की उम्मीद रहती है. क्योंकि ज्यादा Weight यह सुनिश्चित करता है कि उसमें सबसे बेहतर Components शामिल किए गए होंगे. अगर पतली Pen Drive की बात करेंगे तो यह हल्की और कहीं भी लेकर जाने में सुविधाजनक होती है. लेकिन इसमें ज्यादा Weight वाली Pen Drive में डाले गए Components होने की उम्मीद न के बराबर रहती है.

Pen Drive कैसे खरीदें

सभी Pen Drive Manufacturers' Warranty के साथ आती है. कुछ Companies 5 साल तो कुछ 7 साल की Warranty के साथ आती हैं. ऐसे में आप किसी भी Defect के लिए Company के Service Center में जाकर उसे Repair या Replace करवा सकते हैं. इसलिए Pen Drive लेते वक्त ये चीज भी जरूर Check करें. अगर आप रोजमर्रा के उपयोग के लिए Pen Drive लेना चाहते हैं तो उसकी Speed जरूर देखें. रोजमर्रा के उपयोग के दौरान आप अन्य Factors के साथ Adjust कर सकते हैं. लेकिन अगर आपको High Speed Data Transfer करना होता है और या फिर आपको अपना Data Password Protected रखना है तो आप उस हिसाब से अपनी Pen Drive का चुनाव कर सकते हैं.

Advantages of Pen Drive in Hindi

  • यह बहुत मजबूत होती है.

  • यह एक Compact Design है जो इनको Portable बनाता है

  • इसमें 64 MB से 128 GB तक की विशाल Data को Storage करने की Capacity होती है.

  • इनको Bootable Media के रूप में उपयोग किया जा सकता है

  • इनकी कीमत भी कम होती है, जो इनके साइज़ के आधार पर होती है.

  • इसे कंप्यूटर में इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी सॉफ्टवेर को इनस्टॉल करने की कोई आवश्कता नही होती है.

  • यह CD/ DVD की तरह आसानी से नही टूटते और न ही इनमे डाटा ही खराब होती है.

  • इनका इस्तेमाल करना बहुत आसान होता है, साथ ही आप इसे अपनी जेब में डाल कर आसानी से एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जा सकते हो.

Pen Drive को Android Smartphone से कैसे Connect करें

Smartphone User आमतौर पर अपने Device में काफी सारा Data Save करके रखते है. Phone में Apps से लेकर Photo, Video जैसी कई अहम चीजें मौजूद होती हैं. जब आपके Phone में Data Overload हो जाता है तो आपका Smartphone Hang होने लगता है और आपको कुछ बहुत सी Delete करनी पड़ जाती हैं. ऐसे में आप अपने Phone का Data Pen Drive में भी Transfer कर सकते हैं. लेकिन इसके लिए आपको PC या Laptop की जरुरत होती है. लोकिन अगर आपके पास Laptop या Computer भी नहीं है तो भी आप Data को आसानी से Transfer कर सकते हैं. हम अपनी इस Post में आपको इसी की जानकारी देने जा रहे है. तो चलिए आगे जानते है की Smartphone से Pen Drive में कैसे Data को Transfer कर सकते हैं.

दोस्तों मैं आपको बता देता हूँ कि इसके लिए आपके पास OTG Cable होना जरुरी है साथ ही यह भी जरुरी है कि आपकी Smartphone OTG को Support भी करता हो. दोस्तों आप नीचेस्टेप बाई स्टेप देख सकते है कि कैसे Data को Transfer कर सकते हैं.

  • Step 1 - इसके लिए आपको सबसे पहले Pen Drive को OTG Cable से Connect करना होगा और Cable को Phone के साथ कनेक्ट Connect.

  • Step 2 - Phone को OTG Cable के साथ Connect करने के बाद Phone के Notification Bar को नीचे की ओर Swipe करें यहां आपको USB Drive का विकल्प नजर आएगा

  • Step 3 - अब USB Type Drive Option पर Click करें. इसके बाद वहां दिए गए Internal storage पर Tab करें.

  • Step 4 - इसके बाद आपको Mobile के Storage से उस Data या File को Select करना होगा जिसे आप Transfer करना चाहते हैं.

  • Step 5 - अब File को Select करने के बाद Phone की Screen पर दायीं ओर आपको तीन डॉट नजर आएंगे उस पर Click करना होगा. इसमें आपको Move, Copy, Rename और दूसरे Option दिखाई देंगे. इन Options में से आपको Copy को Select करना होगा, जिसके बाद आपकी सेलेक्ट की हुई File USB Storage में Transfer हो जाएगी.

Computer Article in Hindi