C++ in Hindi




C++ एक स्थाई रूप से general-purpose, case-sensitive, free-form प्रोग्रामिंग भाषा है जो procedural, object-oriented और generic programming का supports करती है. C++ को medium level की Language के रूप में माना जाता है, क्योंकि इसमें High level और Lower-level language सुविधाओं दोनों का संयोजन शामिल होता है.

C++ को 1 9 7 9 में न्यू जर्सी के Murray Hill मे Bell Labs मे C भाषा में वृद्धि के रूप में विकसित किया गया था और मूल रूप से Classes के साथ C नामित किया गया था लेकिन बाद में इसे 1 9 83 में C++ नाम दिया गया था.

C++ एक Object-oriented programming language है लेकिन पूरी तरह Object oriented नहीं है. C++ Friend और Virtual जैसी इसकी विशेषताएं, कुछ महत्वपूर्ण OOPS features का उल्लंघन करती हैं, जो इस भाषा को पूर्ण Object Oriented कहलाती हैं. यह एक मध्यम स्तर की भाषा है.

C++ Important Features

  • C++ में सभी OOPS features जैसे Abstraction, Encapsulation, Inheritance इत्यादि programmers के लिए इसे अधिक योग्य और उपयोगी बनाती है.

  • C++ user defined operators का समर्थन करती है और अनुमति देती है यानी Operator Overloading और function overloading भी इसमें supported होते है.

  • C++ मे Exception Handling होती है.

  • C++ भाषा मे Macros की बजाय C++ में Inline functions होते है. Inline functions Macros जैसे सुरक्षित functions body act को सुरक्षित रूप से बनाता है.

  • Variables को C++ में प्रोग्राम में कहीं भी declared किया जा सकता है, लेकिन इन्हें इस्तेमाल होने से पहले declared किया जाना चाहिए.

C++ Operators in Hindi

C++ Language मे Operator एक Symbol होता है जो Compiler को Specific Mathematical या Logical Manipulations करने के लिए कहता है . C++ मे कुछ ऐसे symbol होते हैं जो variable पर कुछ operation करने के लिए Compiler को बताते हैं इन symbolS को operators के रूप में भी जाना जाता है

Example के लिए, (+) एक Operator है जिसका use दो variable की values को Add करने के लिए किया जाता है. Operator जो Compiler को Specific mathematical या logical जोड़ तोड़ करने के लिए कहता है C ++ Language निम्न प्रकार के Operator provide करती है.

C++ Variable in Hindi

Variable का उपयोग किसी program मे input data को identify करने के लिए किया जाता है. Variable data को contain किये रहता है जिस को program execution के समय कभी भी बदला जा सकता है. Data को computer memory में store करने के लिए variables का उपयोग करते है .

Variables एक box की तरह होते है जिसमें आप Values को store कर सकते हो और एक variable का Name letters, digits, and underscore character से बना सकते है.

C++ Data Type in Hindi

Data मे Character, number, symbols, आदि का collection होता है Data का उपयोग information को Represent करने के लिए किया जाता है. Data Type को Different types मे classified किया जाता है. C++ Data Type को Basic Data Type, derived Data Type और user को defined Data Type के रूप में classified किया जा सकता है.

प्रत्येक Data Type computer की memory के भीतर अलग तरीके से Displayed होता है. C++ द्वारा प्रदान किए गए Different data types built-in data types, derived data types और User Defined Data Type होते है.

C++ Functions in Hindi

एक Function statements का एक समूह होता है जो एक साथ कार्य करता है. प्रत्येक C++ program में कम से कम एक Function होता है, जो main() होता है और सभी सबसे छोटे छोटे program अतिरिक्त कार्यों को Defined कर सकते है. Function से आप अपने code को अलग-अलग कार्यों मे divide कर सकते है.

एक Function declaration एक Function के नाम, return type और parameters के बारे में compiler को बताता है. एक फ़ंक्शन definition Function की actual body प्रदान करता है.

C++ Inheritance in Hindi

Inheritance Object-oriented Programming System का एक feature है. C++ में inheritance को code की reusability के लिए उपयोग किया जाता है. Inheritance आपको मौजूदा class से नए classes बनाने की सुविधा देता है किसी मौजूदा class से बनाई गए new class को derived class कहा जाता है और मौजूदा class को base class कहा जाता है.

Object-oriented programming में सबसे महत्वपूर्ण अवधारणाओं में से inheritance एक है inheritance हमें किसी अन्य class के मामले में एक class को परिभाषित करने की अनुमति देता है. यह Application को बनाने और बनाए रखने में आसान बनाता है यह Code की working capacity की और तेजी से Implementation और समय का पुन: उपयोग करने का एक अवसर भी प्रदान करता है.

C++ Loops in Hindi

C++ Programming Language मे Loops का उपयोग statements के एक Block को बार-बार execute करने के लिए किया जाता है. Program में जब हमें किसी process को बार-बार दोहराना होता है तब हम Loop का उपयोग करते है.

Loops का उपयोग करके आप एक ही statement को बार बार execute करवा सकते है. हर loop एक block provide करता है जिसमे उस statements को लिखा जाता है जिसे आप एक से ज्यादा बार execute करवाना चाहते हो.

C++ Abstraction in Hindi

Abstraction Object-oriented Programming की एक विशेषता है, जहां पर आप user के लिए relevant details दिखाते है और Irrelevant details को छिपाते है.

Example के लिए, जब आप किसी को एक email send करते हो तो आप केवल send पर click करते हो और आपको एक success msg मिलता है और फिर वो Email उस id पर पहुंच जाती है जो id आपने दी है आपके द्वारा दी गई Email किसी दूसरी id पर कैसे पहुँचती है यह आपको पता नहीं चलता क्योकि यह आपके लिए Irrelevant details होती है.

C++ Pointers in Hindi

Pointer एक variable होता है जो दूसरे variable के address को Stored करता है एक pointer एक अन्य pointer के address को भी Store कर सकता है जिसे pointer की Chain कहा जाता है और variable की Value को Pointer के माध्यम से पढ़ा जा सकता है. C++ Language मे pointer का उपयोग किसी Member function के अंदर object के address को Represent करने के लिए किया जाता है.

C++ Arrays in Hindi

Array एक ही प्रकार के variable का collection होता है जो Elements को sequential तरीके से stored करता है. यह एक Data structure है array elements में Infected memory के स्थान शामिल होते हैं और randomly style से subscript या index variable का use करते है.

C++ Data structure provide करता है यह एक array का उपयोग Data के collection को stored करने के लिए किया जाता है. Array Sequential memory स्थान में stored समान Type के Data का एक collection होता है . किसी index का उपयोग करके एक array के elements को Access किया जाता है.

C++ Input/Output in Hindi

C++ standard library Input और Output के लिए बड़ी possibilities provide करती है. C++ Input और Output operation के लिए Stream name का एक abstract का use करता है . Input/Output एक धारा एक ऐसी unit है जो Program द्वारा characters को read या write के लिए उपयोग की जाती है .

Example के लिए screen, keyboard या एक File को C++ Programming Language मे Stream के रूप मे Displayed किया जाता है.

Input और Output के लिए Stream का उपयोग किया जाता है जब आप keyboard पर Type करते हैं और जब आपका program data के रूप में अपना Input लेता है, तो यह standard Input होता है जब आपका Output terminal screen पर Displayed होता है, तो यह standard Output होता है standard Input Stream को cin कहा जाता है, और standard Output Stream को cout कहा जाता है.

C++ Strings in Hindi

Strings ऐसा words होता हैं जो characters से बने बना है इसलिए Strings को characters के sequence के रूप में जाना जाता है. C++ में हमारे पास string बनाने और use करने के दो Ways होते है. First Ways मे four arrays का structure करके उन्हें string के रूप मे handle किया जाता है Second Ways मे string को object बनाकर use किया जाता है.

Standard String class समान objects को एक interface द्वारा Bytes के एक standard character के लिए recourse देता है. C++ Strings आपको Operators द्वारा प्रारंभिक रूप से Entrust तुलना और पुन: असाइन करने की permission देता है .