UPS क्या है और कैसे काम करता है




Hello Friends Tutorialsroot मे आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post में UPS के बारे में बताने जा रहे है जिसमे आपको UPS के बारे में सीखने को मिलेगा हमे आशा है की पिछली बार की तरह इस बार भी आप हमारी Post को पसंद करेंगे. बहुत कम लोग ही जानते होंगे की UPS क्या है और इसका उपयोग कैसे और क्यों किया जाता है अगर आप इसके बारे में नही जानते तो कोई बात नहीं हम आपको इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी देंगे इसके लिए हमारी Post को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े.

बहुत से लोग Computer का उपयोग करते है अगर आप Computer का उपयोग करते है और आपको पता नही की UPS क्या है तो हम आपको बताते है की UPS एक Backup देने वाली Machine है जो Computer या किसी भी Electronic सामान को बिजली के चले जाने पर भी चलाती है. UPS बिजली चले जाने के बाद भी Computer को 1 घंटे तक चलाने की Capacity रखता है यह Battery से संचालित उपकरण है जिसके द्वारा Computer में लगातार बिजली आपूर्ति बनी रहती है तो चलिए आगे जानते है की UPS क्या है और कैसे काम करता है

UPS क्या है - What is UPS in Hindi

UPS की फुल फॉर्म Uninterruptible Power Supply होती है. UPS को हिंदी मे अबाधित विद्युत आपूर्ति कहते है और अगर आसान शब्दो मे कहे तो UPS एक ऐसी मशीन है जो बिजली चले जाने पर आपके कंप्यूटर को Power Supply करती है. UPS के अंदर एक बैटरी होती है जो कंप्यूटर को 20 से 40 मिनट तक Power देती है इससे हमे ये फायदा होता है की अगर Main Power Supply बंद होने पर हम Computer को सही तरह से बंद कर सकते है.

UPS एक ऐसा उपकरण है जो Computer को Main Power के Cut हो जाने पर थोड़ी देर तक Computer को Run करने की सुविधा देता है. यह Computer को बिजली के High Voltage से भी बचाता है UPS तब काम करना शुरू करता है जब आपका Computer बिजली से Connection खो देता है यह आपको इतना समय देता है की आप अपने Document को Save कर सकते है.

UPS एक Hardware Device है जो Computer को Telecommunication Device और अन्य बिजली Device को Uexpected Power Cut से बचाता है दुनिया का सबसे बड़ा UPS Fairbanks Alaska में है यह 46 मेगावाट का है.

UPS को Computer से जोड़ने के लिए इसे आपको अपने Computer से Connect करना होगा और इसके Switch को On रखना होगा जिससे यह Charge होता रहे.

UPS के फायदे

इसकी खास बात ये है की इसमे Power के Cut होने पर भी यह Continuous काम करता रहता है यह Data का Backup भी देता है. यह आपके Computer मे बिजली के कारण होने वाली अस्थिरता को Control करके Computer मे आने वाली हर तरह की हानि को Control करता है. यह आपके Computer को एक संतुलित Current Flow करता है जिससे यह आपके Computer को बिजली चले जाने पर भी इतना वक्त देता है की आप अपने Data को Save कर सकते है.

Computer के अचानक बंद होने से Data के Loss होने का पूरा खतरा होता है. लेकिन UPS के होने से इस बात का डर नही रहता की बिजली चली गयी है तो Data Loss हो जायेगा यह इतना समय देता है की आप Computer को Safe Shutdown कर सके. UPS एक बेहतरीन Emergency Power Source है जिससे आपके घर का Power Off होने पर आप UPS Inverter की सहायता से घर के Power Machine को चला सकते हो.

UPS काम कैसे करता है

UPS Computer को 4 तरीको से सुरक्षा प्रदान करता है जैसे कि -

  • Voltage Surges and Spikes

  • Voltage Sags

  • Totals Power Failure

  • Frequency Difference

Voltage Surges and Spikes

Computer में विधुत का प्रवाह कई बार बहुत ज्यादा होता है तो उस वक़्त UPS विधुत के उस प्रवाह को सहन करके Computer तक उचित विधुत प्रवाहित करता है.

Voltage Sags

बहुत सी बार ऐसा भी होता है कि जब विधुत का प्रवाह कम होता है और वो आपके Computer के काम करने के लिए Suitable नही होता है. UPS क्योकि एक ऐसी Machine है जो आपके Computer को विधुत Power Supply करता है तो उस Situation में भी ये आपके Computer को उचित विधुत बना कर प्रवाहित करता है.

Totals Power Failure

UPS का उपयोग इसीलिए किया जाता है कि अचानक विधुत पॉवर के चले जाने के बाद आपको इतना समय मिल सके कि आप अपने कार्य को Save कर सको.

Frequency Difference

कभी कभी विधुत कम या ज्यादा हो जाती है इसी को Power Oscillation कहते है जिसका मतलब होता है कि विधुत पॉवर का कम या ज्यादा होते रहना. इस Situation में Computer को सबसे ज्यादा हानि पहुँच सकती है. इस Situation मे Computer का Motherboard भी ख़राब हो सकता है साथ ही Computer की Display भी ख़राब हो सकती है. लेकिन अगर आप Computer मे UPS का उपयोग करते हो तो UPS Computer को इस तरह के सभी नुकसान से Safe रखता है.

Types of UPS System

UPS System दो प्रकार का होता है

  • Standby UPS - Standby UPS सबसे Common Type है. Standby UPS को Personal Computer के लिए Use किया जाता है. यह Inverter केवल तब शुरू होता है जब Power Fail हो जाती है इसलिए इसका नाम Standby है.

  • Line Interactive UPS - Line Interactive UPS Small Business, Web और Departmental Servers के लिए सबसे सामान्य Design है. इस Design मे Battery से AC Power Converter Inverter हमेशा UPS के Output से Connect रहता है. जब Input AC Power सामान्य होती है तो Operating Inverter Reverse में Battery Charging Provide करता है.

UPS के Parts

UPS मुख्य रूप से बहुत से Parts होते है जैसे कि -

  • Rectifier

  • Battery

  • Inverter

  • Static Switch or Contactor

Rectifier

Rectifier का मुख्‍य Function AC को DC मे Convert करना होता है. इसे Battery Charge करने के लिए Use किया जाता है और यह Inverter Circuit में Fid होता है. यह Output, Load की आवश्यकता पर निर्भर करता है

Battery

Battery Energy Store करती है जिसका Use मुख्‍य Power Fail होने पर भविष्‍य के Use के लिए किया जाता है. Battery Lead Acid या आवश्यकता के अनुसार किसी अन्य प्रकार की हो सकती है.

Inverter

यह Rectifier Process के उलट करता है. यह Load के उपयोग के लिए आने वाले DC Supply को AC में Convert करता है. Inverter का Output Sign Wave होता है. यह D.C. को Constant Frequency और Amplitude के A.C में Convert करता है.

Static Switch or Contactor

Static Switch or Contactor की आवश्यकता Power के Source को Transfer करने के लिए एक होती है. इसका उपयोग आम तौर पर, 10 मिली सेकेंड के अंदर Switching करने वाले Switch के लिए किया जाता है.

Computer Article in Hindi