WWW क्या है - World Wide Web क्या है और कैसे काम करता है




WWW की फुल फॉर्म World Wide Web होती है. WWW एक इंटरनेट सर्वर सिस्टम है जो की Documents के प्रारूप को विशेष रूप से Represent करता है. इन Documents को आम तौर पर HTML के द्वारा Format किया जाता है. WWW का उपयोग World मे Internet से Connected सभी Websites से होता है. एक Web Browser मे Text, Images और दुसरे Multimedia होते है और इसे Hyperlink का उपयोग करके अन्य वेब पेज को Navigate कर के देख सकते है.

उदाहरण के लिए आप http://tutorialsroot.com/ Website पर अगर जाते है तो यह देखिये कि http://tutorialsroot.com/ जो है वो इसकी Website का Address है जिसका Format कुछ इस तरह का होता है कि इसके शुरुआत मे WWW लगा है और आगे उस Website का पता है इसे हम URL कहते है या इसे हम Link भी कहते है.

लेकिन जब आप इस Website पर जाते है तो किसी Blog को पढ़ चुकने के बाद आपको नीचे कुछ Articles के Link दिए होते है जिनका Title भी होता है आप उस Title को पढ़ कर किसी दूसरी Blog या खबर पर जा सकते है. अगर वो Title आपको अच्छा लगा या आप उसे पढने में Interested है. अगर आपको वो Article का Title अच्छा लगता है तो आप उस खबर को पढ़ने के लिए उस पर Click करते है और आप दूसरे Page पर चले जाते है. अपने जिस Title पर Click किया होता है वो असल में एक Link की तरह काम करता है जो दूसरे Page पर जाने के लिए होता है और पूरा Internet करीब करीब इसी तरह काम करता है.

हम अब आसान भाषा मे यह कह सकते है कि World Wide Web यानि के WWW एक तरह से सूचनाओं को Save और Internet के माद्यम से उन्हें Displayed करने का एक ऐसा तरीका है जिसमे Content या Articles एक दूसरे से Links के जरिये जुड़े रहते है. हम यह भी कह सकते है कि WWW एक ऐसा ऐसी जगह है जहा Contents की पहचान या उन्हें Access करने के लिए URLs का उपयोग होता है और जिसमे Contents आपस मे Hypertext Links के जरिये जुड़े होते है और उन्हें Internet के द्वारा Access किया जा सकता है. World Wide Web एक विशाल सूचनाओं का Database है तथा हर सूचना एक दूसरी सुचना से जुड़ी होती है.

WWW कैसे काम करता है

World Wide Web पर एक Web Page को देखने की शुरुआत सामान्यत Web Browser जैसे Google Chrome, Mozilla Firefox, Opera, Safari, Internet Explorer मे उसका URL लिख कर अथवा उस Page के Hyperlink को लेके काम करता है. जब भी हम URL के जरिये किसी भी Document की request भेजते हैं तो वह Internet के जरिये ही जाती है और Document हम तक Internet के जरिये ही पहुच पाता है.

जब भी हम किसी Document के लिए Request भेजते है तो वह Request Internet के जरिये उस Document को पूरे World Wide Web पर Search किया जाता है. हम Request हमेशा URL के Form मे भेजते है और उस Address को Internet के जरिये Server के IP Address मे बदला जाता है और उसके बाद Request किये गए Document को Server मे Search कर Client के Web Browser तक भेज दिया जाता है और उसके बाद उसे Browser के द्वारा पड़ कर Human Readable Format मे Convert किया जाता है.

World Wide Web को चलाने के लिए आम तोर पर इन चार Technology का उपयोग किया जाता है URL, Web Browser, HTTP और HTML का उपयोग. इन सब के बिना World Wide Web Exist ही नहीं करता.

WWW का इतिहास -

WWW एक ऐसा स्थान है जहाँ सभी Documents आपस में URL और Hypertext Link से Connected रहते है. Tim Berners- Lee को WWW का Inventor कहा जाता है. Tim Berners- Lee ने सन 1989 में WWW का आविष्कारक किया था.

Tim Berners- Lee Switzerland की Company CERN मे काम करते थे तब उन्होंने सन 1990 मे पहले वेब ब्राउज़र का प्रोग्राम लिखा था. सबसे पहले इस वेब ब्राउज़र को January 1991 मे CERN से बाहर अन्य अनुसन्धान के लिए जारी किया गया फिर इसे August 1991 मे ही आम जनता के लिए जारी कर दिया गया.

WWW से जुडी कुछ बाते -

  • WWW की शुरुआत 1980 के दशक मे हुई थी.

  • WWW की शुरुआत Tim Berners-lee ने की थी.

  • WWW का Full Form World Wide Web होता है.

  • WWW को Internet का ही एक हिस्सा कहा जा सकता है.

  • WWW पर रखे किसी भी Document को Access करने के लिए हमे URL का उपयोग करना होता है.

  • WWW Internet पर रखे सारे Documents, Hypertext Files, Audio, Video आदि Data के Group को कहते है.

Internet Article in Hindi